team india want to break lord’s jinx in 2nd test against england
भारत vs इंग्लैंड @HomeOfCricketTwitter

भारत और इंग्लैंड (India vs England) की टीमें पहला टेस्ट ड्रॉ खेलने के बाद गुरुवार से लॉर्ड्स के मैदान पर आमने-सामने होंगी. नॉटिंघम में जीत की दावेदार दिख रही टीम इंडिया का क्रिकेट के मक्का माने जाने वाले मैदान ‘लॉर्ड्स’ पर रिकॉर्ड अच्छा नहीं है. भारतीय टीम ने यहां अब तक कुल 18 टेस्ट मैच खेले हैं, लेकिन उसे सिर्फ 2 में ही जीत नसीब हुई है. भारत ने पहली बार यहां 1986 में कोई टेस्ट मैच जीता था, इसके बाद उसकी दूसरी जीत आने में 28 साल लग गए, जो उसे साल 2014 में यहां मिली.

भारत के शीर्ष बल्लेबाज कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli), अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) और चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) का इस वेन्यू पर रिकॉर्ड अच्छा नहीं रहा है. कोहली, पुजारा और रहाणे ने लॉर्ड्स मैदान पर 2-2 टेस्ट मैच खेले हैं. कोहली का औसत 16.25, पुजारा का 22.25 और रहाणे का औसत 34.75 का है. रहाणे ने हालांकि, 2014 में यहां शतक जड़ा था.

भारत के शीर्ष 3 बल्लेबाजों में 6 पारियों पर सिर्फ एक शतक लगाया है, वो भी 2014 में रहाणे के बल्ले से निकला था. भारत को अपनी गेंदबाजी संयोजन पर भी ध्यान देने की जरूरत है. उम्मीद है कि भारतीय टीम चार तेज गेंदबाज और एक स्पिनर के साथ इस मैच में उतर सकती है.

हालांकि, इस बात पर संदेह है कि टीम रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) को खिलाएगी या नहीं. अश्विन का इंग्लैंड में अबतक रिकॉर्ड बेहतर रहा है. उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप तथा काउंटी मैच में बेहतर किया था. लेकिन उन्हें पहले टेस्ट मैच में जगह नहीं दी गई थी, जिससे कई क्रिकेटर्स आश्चर्यचकित रह गए थे.

भारत की तरफ से शार्दुल ठाकुर दूसरे टेस्ट में उपलब्ध नहीं होंगे और इसकी पुष्टि खुद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने की है. भारत इस मैच में तेज गेंदबाज इशांत शर्मा को मौका दे सकता है, जिन्होंने 2014 में लॉर्ड्स में भारत को मिली जीत में अहम भूमिका निभाई थी. 32 वर्षीय गेंदबाज ने उस मैच में 23 ओवर में 74 रन देकर 7 विकेट लिए थे और भारत को 95 रनों से जीत दिलाई थी.