किसी भी इंसान से ज्यादा टीम मायने रखती है: अनिल कुंबले
फोटो साभार: Getty Images

भारतीय टीम के नवनियुक्त मुख्य कोच अनिल कुंबले ने अपनी नियुक्ति के बाद शुरू हुए विवाद पर बुधवार को कहा कि किसी भी इंसान से ज्यादा टीम मायने रखती है। कुंबले ने बुधवार को आधिकारिक तौर भारतीय टीम के कोच का पद संभाल लिया है।

कुंबले को भारतीय टीम का कोच बनाए जाने के बाद पूर्व कप्तान सौरव गांगुली और पूर्व निदेशक रवि शास्त्री के बीच काफी विवाद खड़ा हो गया। शास्त्री के साक्षात्कार के दौरान कोच चुनने की जिम्मेदार क्रिकेट सलाहाकार समिति (सीएसी) के सदस्य गांगुली बैठक में मौजूद नहीं थे, जिससे शास्त्री काफी नाराज हो गए थे और मीडिया में अपनी निराशा भी जाहिर की थी।

शास्त्री को भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली की पहली पसंद बताया जा रहा था। कुंबले ने हालांकि उनके और शास्त्री के बीच मनमुटाव की खबरों को खारिज किया है।

कुंबले ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, “मैं पहला शख्स था जिसने रवि (शास्त्री) को फोन किया था। यह रवि और कुंबले की बात नहीं है, यह टीम की बात है।”

अगले महीने शुरू हो रहे वेस्टइंडीज दौरे पर पूर्व टेस्ट कप्तान ने कहा कि भारत के पास अच्छी टीम है। टीम में कोहली, मुरली विजय, अमित मिश्रा, ईशांत शर्मा जैसे अनुभवी खिलाड़ी हैं जो युवा खिलाड़ियों को मदद करेंगे।  कुंबले का कार्यकाल सिर्फ एक साल का है, लेकिन इस दिग्गज लेग स्पिनर का ध्यान छोटे कार्यकाल पर नहीं है।

कोच की जिम्मेदारी के बारे में कुंबले ने कहा कि वह जानते हैं कि कोच की क्या जिम्मेदारी होती है। उन्होंने साथ ही कहा कि मैदान पर जो भी फैसले लिए जाएंगे वह कप्तान लेगा। [ये भी पढ़ें: ]

उन्होंने कहा, “मैं यहां मदद के लिए हूं। मैं उनकी सहायता करुं गा और अपना अनुभव साझा करुंगा।”

कोच बनने के बाद पहली बार संवाददाता सम्मेलन कर रहे कुंबले ने कहा कि उनका ध्यान ज्यादा से ज्यादा नेट अभ्यास पर होगा, जिसमें हर दिन दो अभ्यास सत्र होंगे। पहला सत्र सुबह नौ बजे और दूसरा सत्र दोपहर में दो बजे होगा।