टेनिस खिलाड़ी मारिया शारापोवा अपने प्रतिबंध के खिलाफ अपील करेंगी
फोटो साभार sports.ndtv.com

विश्व की पूर्व शीर्ष वरीयता प्राप्त टेनिस खिलाड़ी मारिया शारापोवा ने कहा कि वह उन पर अंतर्राष्ट्रीय टेनिस संघ (आईटीएफ) द्वारा डोपिंग रोधी नियमों के उल्लंघन के लिए लगाए गए दो साल के प्रतिबंध के खिलाफ अपील करेंगी। आईटीएफ ने रूस की दिग्गज टेनिस खिलाड़ी शारापोवा को डोप परीक्षण में असफल पाए जाने के कारण बुधवार को दो साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया।

अंतर्राष्ट्रीय समिति ने अपनी वेबसाइट पर कहा कि एक स्वतंत्र न्यायाधिकरण ने शारापोवा को डोपिंग रोधी नियम के अनुच्छेद 2.1 का दोषी पाया है और इसके तहत उन्हें अयोग्य घोषित करते हुए 26 जनवरी 2016 से दो साल के लिए प्रतिबंधित किया जाता है।

रूस की 29 वर्षीया टेनिस खिलाड़ी ने इस प्रतिबंध को गलत तरीके से उठाया गया कठोर कदम करार दिया और फेसबुक पेज पर अपने प्रदर्शन को बेहतर करने के लिए किसी भी प्रकार की दवा के इस्तेमाल से भी इनकार किया।

शारापोवा ने अपने संदेश में खेल पंचाट न्यायालय (सीएएस) में इस फैसले के खिलाफ अपील करने की शपथ ली। पांच ग्रैंड स्लेम खिताब जीत चुकी शारापोवा को मार्च में विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) द्वारा सूचित किया गया था कि वह जनवरी में आस्ट्रेलियन ओपन में हुए डोप टेस्ट में असफल हुई हैं। [ये भी पढ़ें: ]

शारापोवा को वाडा द्वारा निषिद्ध सूची में शामिल की गई दवा ‘मेल्डोनियम’ के सेवन का दोषी पाया गया। इस दवा को एक जनवरी, 2016 से प्रतिबंधित कर दिया गया था।

इस घोषणा के बाद कई बड़ी खेल उत्पाद निर्माता कंपनियों ने शारापोवा के साथ अपना करार खत्म कर दिया। इनमें नाइकी, स्विट्जरलैंड की घड़ी निर्माता कंपनी शामिल है।

रूस टेनिस संघ (आरटीएफ) ने कहा कि वह इस फैसले के खिलाफ की जाने वाली अपील में हर प्रकार से शारापोवा का समर्थन करेगा।