अयोग्य साबित होने पर ओलम्पिक में नहीं खेल पाएंगी शारापोवा
फोटो साभार sports.ndtv.com

रूस की टेनिस स्टार खिलाड़ी मारिया शारापोवा को डोपिंग मामले में संलग्नता के कारण सभी प्रतियोगिताओं से निलंबित किया गया है, लेकिन उन्हें देश के ओलम्पिक खेलों में हिस्सा लेने वाले एथलीटों की सूची में शामिल किया गया है। रूसी टेनिस संघ (आरटीएफ) ने यह जानकारी देते हुए कहा कि अगर वह अब भी खेलने के लिए अयोग्य साबित होती हैं, तो उनका नाम सूची से हटा दिया जाएगा।

समाचार एजेंसी तास के अनुसार, अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (आईओसी) के सदस्य शामिल तारपिसेचेव ने कहा था कि उन्हें देश के एथलीटों की सूची में शामिल किया जाएगा।

उन्होंने कहा, “अगर वह ओलम्पिक खेलों में हिस्सा लेने के क्रम में अयोग्य साबित होती हैं, तो उन्हें हटाकर उनके बाद रैकिंग सूची में शामिल खिलाड़ी को भेजा जाएगा।”

इस वर्ष मार्च की शुरुआत में शारापोवा ने लॉस एंजेलिस में हुए एक संवादताता सम्मेलन में कहा था कि उनके डोपिंग टेस्ट में ‘मेल्डोनियम’ की मात्रा पाई गई है। इस दवा को विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) द्वारा एक जनवरी से निषिद्ध दवाओं की सूची में शामिल किया गया था।

इस घोषणा के बाद विश्व की पूर्व शीर्ष वरीयता प्राप्त टेनिस खिलाड़ी को टेनिस संबंधित सभी प्रतियोगिताओं से प्रतिबंधित कर दिया गया।

डोपिंग आरोपों के मद्देनजर शारापोवा के खेल करियर के संबंध में अंतर्राष्ट्रीय टेनिस संघ (आईटीएफ) न्यायाधिकरण द्वारा फैसला लिया जाना बाकी है।

आईटीएफ ने पिछले माह घोषणा की थी कि न्यायाधिकरण शारापोवा के डोपिंग मामले में वाडा द्वारा दी गई सिफारिशों को ध्यान में रखेगा। रूसी टेनिस संघ ने बुधवार को अपनी एक घोषणा में कहा था कि शारापोवा के अलावा रूस की तीन अन्य महिला टेनिस खिलाड़ी भी ब्राजील में होने वाले ओलम्पिक खेलों के लिए देश के एथलीटों की सूची में शामिल हैं।

नियमों के अनुसार, 2016 ओलम्पिक खेलों के लिए राष्ट्रीय टेनिस खिलाड़ियों की सूची रूस को छह जून से पहले प्रस्तुत करनी होगी। तारपिसेचेव ने इससे पहले इस माह की शुरुआत में कहा था कि शारापोवा से संबंधित मुद्दा के बारे में फैसला फ्रेंच ओपन के दौरान होगा।

फ्रेंच ओपन वर्तमान में फ्रांस में खेला जा रहा है, जो पांच जून तक जारी रहेगा।