नाथन लायन © Getty Images
नाथन लायन © Getty Images

एशेज सीरीज के पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने इंग्लैंड को 10 विकेट से हराया। इस जीत में उसके ऑफ स्पिनर नाथन लायन का अहम योगदान था। लायन ने टेस्ट मैच में कुल 5 विकेट झटके लेकिन इसके साथ-साथ उन्होंने इंग्लिश बल्लेबाजों को बांधे रखा। कोई भी विरोधी बल्लेबाज लायन के खिलाफ आक्रामक रुख नहीं अपना सका। अब 2 दिसंबर से दोनों टीमों के बीच एडिलेड में दूसरा टेस्ट खेला जाना है और इस मुकाबले से पहले लायन ने इंग्लिश बल्लेबाजों को खुली चुनौती दी है। लायन ने कहा है कि इंग्लैंड के बल्लेबाजों में दम है तो वो दूसरे टेस्ट में उनके खिलाफ आक्रामक रवैया अपना कर दिखाएं।

एडिलेड ओवल का पिच दुनिया की सबसे तेज पिचों में से एक है। यहां तेज गेंदबाजों को खासी मदद मिलती है। इस मैदान पर दोनों टीमों के बीच पिंक गेंद से डे-नाइट मुकाबला होना है, इसके बावजूद नाथन लायन इंग्लिश बल्लेबाजों को चुनौती दे रहे हैं, जिसका एक बड़ा कारण है। दरअसल नाथन लायन क्रिकेटर बनने से पहले एडिलेड ओवल मैदान के पिच क्यूरेटर थे। उन्हें एडिलेड की पिच की हर छोटी-बड़ी जानकारियां हैं। यही वजह है कि वो इंग्लैंड के बल्लेबाजों को सीधी चुनौती दे रहे हैं।

आज नहीं तो कल, टीम इंडिया में खिलाना तो पड़ेगा: सुरेश रैना
आज नहीं तो कल, टीम इंडिया में खिलाना तो पड़ेगा: सुरेश रैना

एडिलेड में लायन का प्रदर्शन

एडिलेड ओवल में भले ही तेज गेंदबाजों का बोलबाला हो लेकिन लायन का इस मैदान पर प्रदर्शन शानदार है। लायन ने एडिलेड में 6 मैच में 27.80 के बेहतरीन गेंदबाजी औसत से 31 विकेट लिए हैं। इस मैदान पर 2 बार 5 विकेट और एक बार 10 विकेट लिए हैं। ऑस्ट्रेलिया का इंग्लैंड के खिलाफ एडिलेड में भी शानदार है। एडिलेड में दोनों टीमों के बीच 31 मैच हुए हैं जिसमें से 17 में उसे जीत मिली है जबकि 9 मैच इंग्लैंड जीता है।