The Ashes 2019: Joe Denly thinks England is still in good position at Leeds
जो डेन्ली (AFP)

इंग्लिश बल्लेबाज जो डेन्ली ने जोर देकर कहा कि इंग्लैंड ने कभी भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में 67 रन पर ऑलआउट होने के बावजूद एशेज के इतिहास में सबसे चौंकाने वाली जीत दर्ज करने की अपनी क्षमता पर विश्वास नहीं खोया।

हेडिंग्ले स्टेडियम में खेले जा रहे मैच के तीसरे दिन मेजबान टीम ने डेन्ली और कप्तान जो रूट के अर्धशतकों की मदद से 3 विकेट खोकर 156 रन बना लिए थे। इंग्लैंड को जीत के लिए 203 रन की जरूरत है, कप्तान रूट अब भी क्रीज पर नाबाद टिके हुए हैं जो कि इंग्लैंड के लिए सकारात्मक है।

50 रन बनाकर जॉश हेजलवुड की बाउंसर पर आउट हुए डेन्ली ने कहा, “मुझे लगता है कि हम अब भी अच्छी स्थिति में हैं। 67 पर ऑलआउट होना कभी भी अच्छा नहीं होता है, ये पर्याप्त नहीं था और हमें लड़ना होगा और दूसरी पारी में अपना चरित्र दिखाना होगा।”

लीड्स टेस्‍ट: जीत से 203 रन दूर इंग्‍लैंड, ऑस्‍ट्रेलिया को चाहिए 7 विकेट

पहली पारी में 67 पर ढेर होने के बाद इंग्लिश बल्लेबाजों को पूर्व दिग्गजों की कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा था। पूर्व कप्तान रॉबर्ट विलिस ने तो यहां तक कह दिया था कि रूट और बेन स्टोक्स को छोड़ बाकी खिलाड़ियों को बल्लेबाजी करना नहीं आता है और एशेज सीरीज उनके हाथ से निकल गई है।

हालांकि डेन्ली का मानना है कि अगर खिलाड़ी विश्वास बनाए रखेंगे तो कुछ भी मुमकिन है। उन्होंने कहा, “बात ड्रॉ कराने या हारने की नहीं थी लेकिन जीतने के लिए वो विश्वास होना जरूरी है। हमें पता है कि (चौथे दिन) सुबह नई गेंद के साथ मुश्किल समय आएगा। लेकिन हमारे पास रूटी और स्टोक्सी- दो विश्व स्तर के बल्लेबाज हैं।”

डर्बीशायर के खिलाफ टूर मैच में हिस्सा ले सकते हैं स्टीव स्मिथ

तीसरे दिन स्टंप्स पर रूट 75 रन बनारकर नाबाद थे और स्टोक्स (2) उनका साथ दे रहे थे। डेन्ली को इन दोनों खिलाड़ियों की क्षमता पर भरोसा है। खासकर कि कप्तान रूट पर, जो कि अब कर सीरीज में कुछ खास नहीं कर पाए हैं। डेन्ली ने कहा, “जब भी जो रूट रन बनाता है तो वो टीम में विश्वास जगाता है। हम उस पर भरोसा करते हैं।”

(एएफपी)