The Ashes: England v Australia: England seeks a ‘double’ as Australia eyes Ashes history, series preview
England cricket team

विश्व कप में जीत के बाद इंग्लैंड गुरुवार से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरू हो रही एशेज सीरीज भी जीतकर घरेलू सीजन का अंत दोहरी सफलता के साथ करना चाहेगा। विश्व कप अगर 50 ओवर के फॉर्मेट की टॉप प्रतियोगिता है तो टेस्ट क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के लिए एशेज से बढ़कर कुछ नहीं है।

पिछले कई सालों में यह इंग्लैंड के लिए सबसे महत्वपूर्ण घरेलू सीजन है और उसने इसकी शुरुआत पहली बार विश्व कप जीतकर की। विश्व कप जीत से इंग्लैंड में क्रिकेट के समर्थकों की संख्या में इजाफा हुआ है और एशेज में जीत इन नए समर्थकों को जोड़े रखने में महत्वपूर्ण होगी।

Tim-Paine

टिम पेन की कप्तानी का इम्तिहान

दूसरी तरफ टिम पेन के नेतृत्व में ऑस्ट्रेलिया एशेज सीरीज जीतकर दक्षिण अफ्रीका में पिछले साल गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण को पीछे छोड़ने का प्रयास करेगा जिसके कारण पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरन बेनक्राफ्ट को प्रतिबंध का सामना करना पड़ा था। एजबस्टन में इन तीनों बल्लेबाजों के खेलने की उम्मीद है और बेनक्रॉफ्ट को उसी तरह की हूटिंग का सामना करना पड़ सकता है जैसी विश्व कप के दौरान वार्नर और स्मिथ को झेलनी पड़ी थी।

19 साल से ऑस्ट्रेलिया को जीत का इंतजार

ऑस्ट्रेलियाई टीम 19 साल से इंग्लैंड में एशेज जीतने में नाकाम रही और उसके बल्लेबाजों को सीम गेंदबाजी की अनुकूल पिचों पर ड्यूक गेंद के सामने जूझना पड़ा है।

Steve Smith and David Warner

ऑस्ट्रेलियाई टीम इसके बावजूद पहले टेस्ट में कोई प्रथम श्रेणी मैच खेले बिना उतरेगी। बेनक्रॉफ्ट जैसे खिलाड़ियों को हालांकि स्थानीय हालात का अनुभव है जो काउंटी टीम डरहम की कप्तानी करते हैं।

टॉप ऑर्डर इंग्लैंड की मुश्किल

विश्व कप के स्टार खिलाड़ियों की मौजूदगी वाली इंग्लैंड की टीम को पिछले हफ्ते आयरलैंड ने लार्ड्स पर एकमात्र टेस्ट की पहली पारी में सिर्फ 85 रन पर ढेर कर दिया था जिससे टीम के टॉप ऑर्डर की कमजोरी उजागर होती है। इंग्लैंड हालांकि आयरलैंड के खिलाफ टेस्ट जीतने में सफल रहा था।

पढ़ें:- एशेज सीरीज के पहले टेस्‍ट में रूट तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करेंगे : डेनली

इंग्लैंड के कप्तान जो रूट की दोबारा तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने की योजना है जिससे कि सरे के रोरी बर्न्स और जेसन राय की नई सलामी जोड़ी की मौजूदगी वाले टॉप ऑर्डर को मजबूत मिल सके। ऑस्ट्रेलिया को तेज गेंदबाजों जेम्स पैटिंसन और पैट कमिंस की मौजूदगी वाले अपने गेंदबाजी आक्रमण से काफी उम्मीदें हैं।

James Anderson

जेम्स एंडरसन पर होगी नजर

इंग्लैंड के गेंदबाजी आक्रमण की कमान एक बार फिर जेम्स एंडरसन के हाथों में होगी जो अब वनडे क्रिकेट नहीं खेलते। टीम को इसके अलावा दोबारा उप कप्तानी हासिल करने वाले बेन स्टोक्स से प्रभावी प्रदर्शन की उम्मीद होगी।

ऑस्ट्रेलिया 2001 से एजबस्टन पर किसी भी प्रारूप का मैच नहीं जीत पाया है। विश्व कप सेमीफाइनल में भी इंग्लैंड ने रॉय की 85 रन की पारी की बदौलत उसे हराया था। दूसरी तरफ इंग्लैंड ने इस मैदान पर अपने पिछले 11 अंतरराष्ट्रीय मैच जीते हैं।
इस सीरीज के साथ दोनों टीमों के लिए आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत भी होगी।