Cricket to be include in Olympic Games: लंबे समय से यह बहस जारी है कि खेलों के सबसे बड़े महाकुंभ ओलंपिक खेलों (Olympic Games) में क्रिकेट को भी शामिल किया जाना चाहिए. कुछ रिपोर्ट्स ऐसा बताती हैं कि लॉस एंजिलिस (Los Angeles Olympics 2028) में होने वाले ओलंपिक खेल 2028 में क्रिकेट का शामिल होना लगभग तय है. क्रिकेट की इंटरनेशनल संस्था आईसीसी भी क्रिकेट को ओलंपिक 2028 में शामिल करने को लेकर सहमत दिख रहा है. हालांकि यह अभी तक तय नहीं हुआ है कि इंटरनेशनल ओलंपिक कमिटी (IOC) और आईसीसी (ICC) क्रिकेट के किस फॉर्मेट को इन खेलों के अंतर्गत लाना चाहते हैं.

इस बीच श्रीलंका के पूर्व कप्तान और पूर्व दिग्गज बल्लेबाज महेला जयावर्धने (Mahela Jayawardene) ने 100 बॉल (The Hundred) फॉर्मेट को इन खेलों में शामिल करने का सुझाव दिया है. बता दें 100 बॉल फॉर्मेट क्रिकेट का बिल्कुल नया प्रारूप है, जिसे इंग्लैंड ने इसी साल अपनी घरेलू लीग में शुरू किया है. यह टी20 क्रिकेट से भी थोड़ा छोटा फॉर्मेट है, जिसमें एक पारी में 100 गेंदें फेंकने का नियम है.

बता दें जयवर्धने आईसीसी की क्रिकेट कमिटी के सदस्य भी हैं. इसके अलावा वह द हंड्रेड टूर्नामेंट में साउदर्न ब्रेव मैन फ्रैंचाइजी के कोच भी हैं. उन्होंने ब्रिटेन के प्रमुख मीडिया समूह डेली मेल से बात करते हुए ओलंपिक में इस फॉर्मेट को शामिल करने की बात कही.

जयवर्धने ने कहा, ‘हमें फिलहाल टूर्नामेंट शुरू होने का इंतजार करना होगा. हमें देखना होगा कि लोगों का इस खेल के प्रति जोश कैसा है और लोग इस पर क्या राय रखते हैं. ओलंपिक खेलों में शामिल करने के लिए टी20 फॉर्मेट को शामिल करने पर भी चर्चा हुई है. टी10 को भी विकल्प के तौर पर रखा गया है तो द 100 क्यों नहीं? अगर यह सफल होता है तो यह शानदार फॉर्मेट होगा. आपको ढाई घंटे में यह खेल खत्म करना होगा.’

बता दें अब तक के इतिहास में क्रिकेट सिर्फ एक बार ही ओलंपिक खेलों का हिस्सा बना है. साल 1900 ओलंपिक में तब इसे पहली बार शामिल किया गया था और इसके बाद अभी तक दोबारा इस खेल के ओलंपिक में शामिल होने का इंतजार है.