The way Ravindra Jadeja and MS Dhoni were hitting the ball, they were likely to win; Says Kane Williams
Kane Williamson @ AFP

आईसीसी विश्व कप-2019 के पहले सेमीफाइनल में 18 रन से जीत हासिल करने के बाद न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने टीम इंडिया की तारीफ करते हुए कहा कि खराब स्थिति से मैच को इतना करीब लाकर भारतीय टीम ने बताया है कि वो क्यों दुनिया की बेहतरीन टीम है।

पढ़ें: विराट ने बताया क्‍यों महेंद्र सिंह धोनी को नंबर-7 पर बल्‍लेबाजी के लिए भेजा गया

बारिश के कारण दो दिन तक खिंचे इस सेमीफाइनल मैच में बुधवार को न्यूजीलैंड ने भारत के सामने 240 रन का लक्ष्य रखा था। भारत ने अपने छह विकेट महज 92 रनों पर खो दिए थे लेकिन रविंद्र जडेजा (77) और महेंद्र सिंह धोनी (50) ने 116 रन की साझेदारी कर भारत को मैच में वापस ला दिया, हालांकि अंत में यह दोनों आउट हो गए और भारतीय टीम को हार मिली।

मैच के बाद विलियमसन ने कहा, ‘हमने सोचा था कि इस विकेट पर 240-250 का स्कोर अच्छा रहेगा और इससे हम भारत पर दबाव बना लेंगे। हमारे खिलाड़ी यह करने में सफल रहे। नई गेंद से हमारे गेंदबाजों ने पिच पर और हवा में गेंद को स्विंग कराने की कोशिश की।’

पढ़ें: जडेजा की शानदार पारी को दिग्‍गजों ने सराहा

उन्होंने कहा, ‘हमें विश्वस्तरीय बल्लेबाजी क्रम पर दबाव बनाना था। हमें पता था कि जब पिच धीमी हो जाएगी तो हमें उसका फायदा उठाना होगा, लेकिन उन्होंने बताया कि वो क्यों विश्व की बेहतरीन टीम है। वे मैच को आखिर तक ले गए जहां वे धोनी और जडेजा के दम पर जीत भी सकते थे।’

विलियम्सन ने कहा कि इस मैच में उनकी टीम की परीक्षा हुई है। उन्होंने कहा, ‘हमारे चरित्र की परीक्षा हुई और हम उसमें सफल रहे।’ न्यूजीलैंड ने लगातार दूसरी बार फाइनल में जगह बनाई है। 2015 में भी वह फाइनल में पहुंची थी लेकिन ऑस्ट्रेलिया से हार गई थी।