there was partiality in team india selection says virender sehwag
वीरेंद्र सहवाग (फाइल फोटो)

भारतीय टीम के पूर्व विस्फोटक ओपनिंग बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) इन दिनों प्लेइंग XI चुनने के तरीके से खुश नहीं हैं. सहवाग ने कहा कि टीम मैनेजमेंट इसमें पक्षपात करता है. वह किसी खिलाड़ी तो खुद को साबित करने के कई-कई मौके देता है, जबकि कुछ खिलाड़ियों को एक या दो बार में ही बाहर कर देता है. मंगलवार को भारतीय टीम ने पुणे में वनडे सीरीज की शुरुआत की है. इस दौरान भारत ने लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल (Yuzvendra chahal) को मौका नहीं दिया. सहवाग इस पर नाराज थे.

चहल इंग्लैंड के खिलाफ हाल ही में खत्म हुई 5 मैचों की टी20 सीरीज के पहले 3 मैचों का हिस्सा थे. लेकिन वह अपनी बॉलिंग से कोई खास छाप नहीं छोड़ पाए, जिसके चलते उन्हें बाकी दो 20 मैचों से बाहर रखा गया. चहल ने तीनों टी20 मैचों में 1-1 विकेट ही अपने नाम किया था.

इसके बाद वनडे सीरीज की शुरुआत हुई तो भारतीय टीम मैनेजमेंट ने चहल की जगह कुलदीप यादव को प्लेइंग XI में मौका दिया. सहवाग टीम चयन की इस नीति से खुश नहीं हैं. उन्होंने कहा कि भारतीय टीम चुनने में ‘पक्षपात’ होता है. वह बल्लेबाजों के चयन के लिए अलग मानदंड अपनाती है और गेंदबाजों के चयन के लिए अलग मानदंड.

सहवाग क्रिकबज से बात कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने अपनी इस बात को आगे बढ़ाते केएल राहुल का उदाहरण देते हुए अपनी बात को साबित करने की कोशिश की. उन्होंने कहा, ‘केएल राहुल को रिषभ पंत से पहले मौका मिला, जबकि वह आखिरी टी20 मैच का हिस्सा नहीं थे क्योंकि वह पिछले 4 टी20 इंटरनेशनल मैचों में फ्लॉप रहे थे.’ इसके बाद उन्होंने कहा कि अब आप दूसरा उदाहरण (युजवेंद्र) चहल का देख लीजिए.

वीरू ने कहा, ‘अपने अपने बॉलरों को बल्लेबाजों जितना महत्व नहीं देते. आप बॉलर को एक ही मैच के बाद बाहर बैठा देते हैं, जबकि केएल राहुल को 4 मौके देने के बाद 5वें मैच से बाहर बिठाते हैं. अगर आप बॉलरों को भी इतने ही मौके देंगे तो उनके लिए मैच खराब हो जाएंगे. अगर यह (जसप्रीत) बुमराह होते तो क्या तब भी आपने उन्हें बाहर रखने का सोचा होता? नहीं, तब आप कहते कि वह अच्छे गेंदबाज हैं और जल्दी ही वापसी कर लेंगे.’

बहरहाल राहुल ने टी20 सीरीज के फ्लॉप शो के बाद वनडे सीरीज में अपनी फॉर्म पा ली है. उन्होंने पहले ही मैच में नाबाद 62 रनों की दमदार पारी खेलकर टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई.