टिम पेन (AFP Photo)

ऑस्ट्रेलिया कप्तान टिम पेन का कहना है कि स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर के आने से उनकी बल्लेबाजी मजबूत हुई है लेकिन वो आगामी भारत दौरे पर पिछले साल मिली हार के बदले के तौर पर नहीं देख रहे हैं। याद दिला दें कि स्मिथ-वार्नर की गैरमौजूदगी में भारत ने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से टेस्ट सीरीज हराई है।

कप्तान टिम पेन ने कहा, “मैं इसे (भारत दौरा) को बदले की तरह नहीं देख रहा हूं। उन्होंने पिछले साल जिस टीम के खिलाफ खेला था उससे हम बिल्कुल अलग है और इस बार दांव पर टेस्ट चैंपियनशिप के अंक हैं और दोनों ही टीमें फाइनल में पहुंचने को देख रही हैं, इसलिए अंक जरूरी है। अगर हम पिछले 12 महीनों से चल रही आगे बढ़ने की प्रक्रिया जारी रखेंगे तो ये एक शानदार सीरीज होगी।”

39 गेंद खेलने के बाद स्टीव स्मिथ ने खोला खाता, फैंस ने दी ऐसी प्रतिक्रिया

कंगारू कप्तान ने एक बार फिर भारतीय पेस अटैक की तारीफ की। उन्होंने कहा, “ऑस्ट्रेलिया में भी, पिछले साल उन्होंने दिखा दिया कि उनके पास ऐसा पेस अटैक है जो हमारे अटैक जितना घातक हो सकता है इसलिए ये सीरीज देखने लायक होगी।”

सिडनी टेस्ट में 279 रन से जीत हासिल करने के साथ ही ऑस्ट्रेलियाई टीम ने न्यूजीलैंड को 3-0 से क्लीन स्वीप कर दिया। घरेलू सीजन में ऑस्ट्रेलिया की ये लगातार दूसरी सीरीज जीत है, जिसके बाद कंगारू टीम टेस्ट चैंपियनशिप अंकतालिका में 296 अंक लेकर दूसरे नंबर पर मजबूत बनी हुई है।

टॉम बैन्टन ने 16 गेंदो पर अर्धशतक जड़ा, एक ओवर में लगाए 5 छक्के

सीरीज जीतने के बाद कप्तान पेन ने उस अंतर का जिक्र किया जिसने ऑस्ट्रेलिया टीम को अजेय बनाया है और वो हैं स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर। बॉल टैंपरिंग मामले में स्मिथ-वार्नर पर एक साल का बैन लगने के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम बेहद खराब फॉर्म से गुजरी थी। इसी दौरान भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसके घर पर हराकर ऐतिहासिक जीत हासिल की। लेकिन अब टीम को दो स्टार बल्लेबाज वापस आ चुके हैं, जिसका नतीजा भी साफ दिख रहा है।

पेन ने कहा है कि वार्नर और स्मिथ ने टीम के बाकी बल्लेबाजों के सामने उदाहरण पेश किया है। मैच के बाद पेन ने कहा, “मैं भाग्यशाली हूं कि इस टीम का कप्तान हूं। हमारे पास अच्छी टीम है। वार्नर और स्मिथ ने हमारी बल्लेबाजी को मजबूत किया है। हम बाकी के खिलाड़ी इससे सीख सकते हैं।”

भारत दौरे पर अपनी शानदार फॉर्म बरकरार रखना चाहेंगे मार्नस लाबुशाने

उन्होंने कहा, “हमारे लिए ये अच्छी बात है कि हमारे पास अच्छे खिलाड़ी हैं। जोश हेजलवुड चोटिल हो गए थे तो जेम्स पैटिनसन ने आकर उनकी कमी पूरी की। टीम की गहराई, जीत की भूख बहुत है। हम बीते कुछ सालों में 20 विकेट लेने के लिए परेशान नहीं हुए लेकिन रन बनाने के लिए जरूर हुए थे। इन दोनों के आने से टेस्ट टीम काफी निरंतर हो गई है। मुझे लगता है कि हम इससे और बेहतर हो सकते हैं।”