न्यूजीलैंड के बल्लेबाज डेवोन कॉन्वे (Devon Conway) ने कहा कि जब उनकी तुलना पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर माइकल हसी (Michael Hussey) से की जाती है तब वो कुछ अलग ही महसूस करने का अनुभव प्राप्त करते हैं, जो उनके लिए काफी अच्छा रहा है. हसी एक खिलाड़ी के रूप में आईपीएल की फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के साथ लंबे समय से जुड़े हुए थे, लेकिन अब वो टीम के बल्लेबाजी कोच हैं.

सीजन में तीसरा अर्धशतक लगाने वाले बल्लेबाज कॉनवे ने कहा, “हां, प्रशंसकों ने मेरी तुलना माइक हसी के साथ की, जो मुझे सुनने में काफी अच्छा लगा. मुझे लगता है कि हसी के पास ना सिर्फ आईपीएल में बल्कि उनके अंदर काफी ज्ञान का भंडार है. एक खिलाड़ी के रूप में मेरे लिए बस यही बहुत महत्वपूर्ण है कि मैं उनसे बात करता रहूं और उनसे क्रिकेट के गुण सीखता रहूं.”

बाएं हाथ के बल्लेबाज हसी ने 79 टेस्ट खेले और 6000 से अधिक रन बनाए, इसके अलावा 185 वनडे और 35 टी20 में ऑस्ट्रेलिया का प्रतिनिधित्व भी किया. 46 साल के खिलाड़ी ने टेस्ट में शानदार 51.52 का औसत बनाया, जबकि वनडे में उन्होंने 48.15 की औसत से 5.400 से अधिक रन बनाए. आईपीएल में, हसी ने 58 पारियों में 1,900 से अधिक रन बनाए, जिसमें उनका सर्वोच्च नाबाद 116 रन था.

रविवार को कॉनवे ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ डीवाई पाटिल स्टेडियम में सीएसके के लिए 49 गेंदों में 87 रनों की शानदार पारी खेली और मैच को 91 रनों से जीतने में मदद की. शानदार बल्लेबाजी के लिए कॉनवे को ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ का पुरस्कार भी दिया गया.

30 साल कॉनवे ने विश्वास जताया कि चार बार की आईपीएल चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स अगले साल जोरदार वापसी करेगी. हालांकि, सीएसके अभी आईपीएल 2022 से बाहर नहीं हुई है, संघर्ष जारी है और हम प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए पूर्ण प्रयास कर रहे हैं.

कॉनवे ने कहा, “निश्चित रूप से मुझे लगता है कि हमारे पास एक बहुत मजबूत टीम है. इस साल परिणाम हमारे अनुरूप नहीं रहे हैं. टीम में कुछ युवा खिलाड़ी हैं, जो अपना अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. इसलिए, इसमें कोई संदेह नहीं है कि हम अगले साल और मजबूत होकर टीम में वापसी करेंगे.”

बल्लेबाज ने आगे कहा कि, “शुरुआत में सीएसके एक अतिरिक्त तेज गेंदबाज रखना चाहते थे क्योंकि दीपक चाहर और एडम मिल्ने दोनों चोट के कारण टीम से बाहर हैं और मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने उन्हें किसी भी अवसर के लिए तैयार रहने के लिए कहा था.”

टीम में खिलाड़ियों के बीच तालमेल को लेकर उन्होंने आगे कहा कि, “हां, मुझे लगता है कि टीम के खिलाड़ियों ने शानदार मैच खेला, जिसका कारण उनके बीच अच्छा तालमेल था. टीम में कुछ गेंदबाजों की कमी थी. जैसे कि दीपक चाहर और एडम मिल्ने, जो चोट लगने के कारण टीम से बाहर थे. लेकिन, टीम के गेंदबाजों ने भी शानदार प्रदर्शन किया.”

कॉन्वे ने आगे कहा, “मोईन अली ने तीन विकेट झटके. मुकेश चौधरी, सिमरजीत सिंह और ब्रावो ने 2-2 विकेट झटके. स्टीफन फ्लेमिंग ने अपना स्पष्ट संदेश दिया था कि, खिलाड़ी भविष्य में खुद को पेश करने वाले किसी भी अवसर के लिए तैयार रहें और यह आईपीएल सीजन ऐसा है, जहां युवा खिलाड़ी अपने प्रदर्शन से अपना भविष्य तय कर सकते हैं.”