न्यूजीलैंड टीम के लेग स्पिन गेंदबाज टॉड एस्टल ने सीमित ओवर फॉर्मेट क्रिकेट पर ध्यान देने के लिए टेस्ट फॉर्मेट को अलविदा कहने का फैसला किया है।

अपने इस फैसले पर एस्टल ने कहा, “टेस्ट क्रिकेट खेलना हमेशा से मेरा सपना रहा है और मैं क्रिकेट के सबसे लंबे फॉर्मेट में अपने देश और राज्य का प्रतिनिधित्व करके बेहद खुश हूं।”

33 साल के कीवी खिलाड़ी ने कहा, “रेड बॉल क्रिकेट सर्वश्रेष्ठ है लेकिन इसमें काफी समय और मेहनत की जरूरत होती है। जैसे जैसे मैं अपने करियर के आखिरी पड़ाव पर पहुंच रहा हूं, मेरे लिए क्रिकेट के इस फॉर्मेट के लिए जरूरी प्रतिबद्धता को बनाए रखना मुश्किल हो रहा था।”

एशिया कप की मेजबानी करे पाकिस्तान लेकिन पाक दौरा नहीं करेगी टीम इंडिया : BCCI

साल 2005 में न्यूजीलैंड के लिए डेब्यू करने वाले एस्टल ने कीवी टीम के लिए खेले पांच टेस्ट मैचों में कुल 7 विकेट लिए हैं। वहीं अपने प्रथम श्रेणी करियर में एस्टल ने 119 मैचों में 334 विकेट लेने के साथ 4,345 रन भी बनाए हैं।

एस्टल ने आगे कहा, “मैंने कैटेबर्री और ब्लैककैप्स के लिए जो उपलब्धि हासिल की है मुझे उस पर गर्व है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एससीजी में टेस्ट खेलना ऐसा मौका है जिसमें मैं हमेशा याद रखूंगा। मैं अब अपनी पूरी ऊर्जा सीमित ओवर फॉर्मेट के साथ अपने परिवार और व्यवसाय को देने के लिए उत्साहित हूं।”

New Zealand vs India: जानें कब और कहां खेला जाएगा तीसरा टी20 मैच

एस्टल का ये फैसला भारत के खिलाफ होने वाले टेस्ट सीरीज से पहले आया है। ऐसे में न्यूजीलैंड टीम भारत के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए एजाज पटेल को स्क्वाड में शामिल कर सकती है।