Tournaments ceo andrea nelson icc womens odi wc postponed due to lack of preparation time for players 4107165

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने हाल में महिला वनडे वर्ल्ड कप को कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए एक साल के लिए स्थगित कर दिया था. इस टूर्नामेंट का आयोजन फरवरी 2021 में न्यूजीलैंड में होना था.

वर्ल्ड कप की सीईओ आंद्रिया नेल्सन का कहना है कि खिलाड़ियों के प्रतिनिधित्व को लेकर काफी कम समय से जुड़ी चिंताओं के कारण ICC के महिला वनडे विश्व कप को स्थगित किया गया और इस फैसले का न्यूजीलैंड में कोरोना वायरस को लेकर सुरक्षा मुद्दों से कुछ लेना देना नहीं है.

न्यूजीलैंड में अब तक कोरोना के 1569 पुष्ट मामले सामने आए हैं

मेजबान न्यूजीलैंड हालांकि कोरोना वायरस से निपटने में सफल रहा है. देश में अब तक इस संक्रमण के सिर्फ 1569 पुष्ट मामले सामने आए हैं जिसमें से अधिकांश उबर चुके हैं. न्यूजीलैंड इस तरह इस वायरस से सबसे कम प्रभावित देशों में शामिल है.

आंद्रिया ने स्थानीय मीडिया समूह ‘एनजेडएमई’से कहा, ‘टूर्नामेंट के लिए टीमों के क्वालीफाई करने के समय को देखते हुए ऐसा किया गया.’क्वालीफायर टूर्नामेंट जुलाई में खेला जाना था लेकिन महामारी के कारण इसे स्थगित कर दिया गया.

5 टीमें क्वालीफाई कर चुकी हैं

भारत, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका और मेजबान टीम पहले ही टूर्नामेंट के लिए क्वालीफाई कर चुकी हैं. टूर्नामेंट की बाकी तीन टीमों का फैसला क्वालीफायर के जरिए होगा और आंद्रिया ने इसी बिंदू पर जोर दिया.

उन्होंने कहा, ‘इस टूर्नामेंट को लेकर हमने कई आपात योजनाएं बनाई जिससे कि सफलतापूर्वक आगे बढ़ने का सर्वश्रेष्ठ संभव मौका मिले. अंतत: क्रिकेट को ध्यान में रखकर टूर्नामेंट में विलंब का फैसला किया गया.’

अब तक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट का आयोजन नहीं हो पाया है

आंद्रिया ने कहा, ‘अब तक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट का आयोजन नहीं हो पाया है इसलिए क्वालीफाई करना और फिर 2021 में प्रतियोगिता में हिस्सा लेना काफी जोखिम भरा है.’न्यूजीलैंड को महिला विश्व कप की मेजबानी अगले साल छह फरवरी से सात मार्च के बीच करनी थी.

पिछले शुक्रवार को टेलीकांफ्रेंस के जरिए हुई आईसीसी बोर्ड बैठक में टूर्नामेंट को स्थगित करने का फैसला किया गया. इंग्लैंड की कप्तान हीथर नाइट और आस्ट्रलिया की विकेटकीपर एलिसा हीली टूर्नामेंट के स्थगित होने पर निराशा जता चुकी हैं लेकिन आंद्रिया का मानना है कि इससे खिलाड़ियों को तैयारी का अधिक समय मिलेगा.