Trending Cricket News Today: सिर में गेंद लगने के बाद चोटिल हुए भारतीय ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) के कनकशन रिप्‍लेसमेंट (Concussion Replacement) को लेकर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. भारतीय टीम के पूर्व बल्‍लेबाज संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) का कहना है कि जडेजा के कनकशन के मामले में नियमों का उल्‍लंघन किया गया है. जडेजा के विकल्‍प के रूप में भारतीय टीम का हिस्‍सा बने युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) तीन विकेट निकाल भारत की जीत के सूत्रधार बने. उन्‍हें मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड दिया गया.

आधिकारिक प्रसारणकर्ता सोनी सिक्‍स से बातचीत के दौरान संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) ने कहा, “रवींद्र जडेजा के केस में अहम प्रोटोकॉल का उल्‍लंघन हुआ है. मुझे विश्‍वास है कि मैच रेफरी भारतीय टीम के साथ इस मुद्दे को उठाएंगे. इस प्रोटोकॉल का सबसे अहम हिस्‍सा ये था कि रवींद्र जडेजा के सिर पर गेंद लगने के बाद तुरंत ही मैदान के बाहर मेडिकल टीम को बात करनी चाहिए थी.”

मांजरेकर (Sanjay Manjrekar)ने कहा, “उसने यह पूछा जाना चाहिए था कि वो कैसा महसूस कर रहे हैं. टीम फीजियों को जडेजा (Ravindra Jadeja) से बात करनी चाहिए थी. जडेजा के मामले में उनके सिर पर गेंद लगने के बाद मैच में महज नाममात्र के लिए ही रुकावट आई थी. इसके बाद वो फिर से बल्‍लेबाजी करने लगे. इसके बाद जडेजा ने नौ रन बनाए. गेंद सिर पर लगने के बाद सपोर्ट स्‍टाफ को दो-तीन मिनट जडेजा से बात करना चाहिए था. अगर ऐसा होता तो ये थोड़ी विश्‍वसनीय नजर आता.”

उन्‍होने कहा, “मैं बस इतना कहूंगा कि मैच रेफरी के पास इस मामले में भारतीय टीम की बात मानने के अलावा और कोई विकल्‍प मौजूद नहीं था क्‍योंकि उनके पास ये कहने की हिम्‍मत नहीं थी कि वो इसे मंजूरी नहीं देंगे. उस वक्‍त जब ये घटना हुई इस मुद्दे पर ज्‍यादा तवज्‍जो नहीं दी गई थी. इसका अनुरोध किए जोने के बाद रेफरी को ऐसा करना ही पड़ता है.”