Trevor Bayliss: Moeen Ali did not want ‘Osama’ claims to be escalated in 2015
Moeen Ali (File Photo) © Getty Image

साल 2015 में एशेज के दौरान ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाड़ी द्वारा इंग्‍लैंड के ऑलराउंडर मोइन अली की तुलना ओसामा से किए जाने का विवाद बढ़ता ही जा रहा है। मोइन अली की आत्‍मकथा पर किताब आ रही है, जिसमें उन्‍हाेंने साल 2015 में हुई घटना के बारे में बताया।

इस मामले में अब इंग्‍लैंड के कोच ट्रेवर बेलिस का बयान आया है। सिडनी के डेली टेलीग्राफ से बातचीत के दौरान बेलिस ने कहा, “मोइन अली इस मामले में उस वक्‍त आगे नहीं बढ़ना चाहता था। वो बेहद शांत स्‍वभाव के इंसान है। वो किसी भी दूसरे शख्‍स को मुसीबत में डालना पसंद नहीं करता। उस वक्‍त टीम में कई ऐसे खिलाड़ी थे जो चाहते थे कि इस मामले को आगे उठाया जाना चाहिए।”

ट्रेवर बेलिस ने कहा, “उस वक्‍त ऑस्‍ट्रेलियाई टीम के कोच डैरेन लेहमन थे। मामला वहीं दब गया था। जिसके बाद मैने इसपर लेहमन से बातचीत नहीं की। मैंने उसे लेहमन और उनकी टीम पर छोड़ दिया। उस वक्‍त ये मामला शांति से खत्‍म हो गया था।”

बेलिस का कहना है कि ये मामला तीन साल पुरान है। अब इसपर गड़े मुर्दे उखाड़ने की जरूरत नहीं है। क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया चाहे तो इसपर आगे कार्रवाई कर सकती है। मुझे लगता है कि सभी खिलाड़ी अब इस मामले को भूलकर आगे बढ़ चुके होंगे। ये घटना वहीं खत्‍म हो गई थी। इसके बारे में उस वक्‍त कहीं रिपोर्ट नहीं छपी थी।

अपनी बुक के हिस्‍से में मोइन अली ने कहा है कि इंग्लिश टीम ने ऑस्‍ट्रेलिया को अपने ड्रेसिंग रूम में आमंत्रित किया था, लेकिन ऑस्‍ट्रेलिया ने इस ऑफर को ठुकरा दिया था। इस घटना में शामिल खिलाड़ी से बाद में मोइन अली की बात हुई। उसने कहा था कि मुझे पता है कि आप इससे क्‍या मतलब निकाल रहे हैं। मैंने आपसे ऐसा कुछ भी गलत नहीं कहा। मेरी बहुत से दोस्‍त मुस्लिम है। मेरे कुछ सबसे अच्‍छे दोस्‍त भी मुस्लिम हैं।