इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कोच क्रिस सिल्वरवुड (Chris Silverwood) का कहना है कि भारतीय स्पिन गेंदबाजों रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) और अक्षर पटेल (Axar Patel) के चार मैचों की टेस्ट सीरीज में कुल 59 विकेट लेने से साफ होता है कि ये सीरीज कितनी ज्यादा मुश्किल थी।

इंग्लैंड ने चेन्नई की पिच पर बड़ी जीत दर्ज कर शानदार शुरूआत की थी लेकिन फिर टर्निंग पिचों पर मेहमान टीम अश्विन (32 विकेट) और अक्षर (27 विकेट) के सामने पस्त हो गई। जिसमें उसके बल्लेबाजों को सीधी गेंदों से सबसे ज्यादा परेशानी हुई।

सिल्वरवुड ने वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस के दौरान ब्रिटिश मीडिया से कहा, ‘‘चार मैचों में उनका 59 विकेट चटकाना पूरी तरह दर्शाता है कि ये मुश्किल था। उन्होंने हमारे लिए काफी मुश्किल पैदा की, पहली पारी में रन जुटाना कठिन हो गया जिसकी बदौलत हम दबाव बना पाते। लेकिन उन्होंने हमारे बल्लेबाजों को काफी ज्यादा परेशान किया।’’

इंग्लैंड के कई पूर्व क्रिकेटरों ने पिचों की आलोचना की लेकिन सिल्वरवुड ने कहा कि ये स्वीकार करना ही उचित है कि उन्होंने अंतिम तीन टेस्ट मैचों में हमें पूरी तरह से पस्त कर दिया। उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने अपने घरेलू हालात में हमें पूरी तरह चित कर दिया। मैं इसके लिए भारतीयों को काफी श्रेय दूंगा। उन्होंने पहले टेस्ट में हारने के बाद वापसी की। हमने उनसे उम्मीद की थी लेकिन उन्होंने तो बहुत ही दमदार वापसी की।’’

सिल्वरवुड ने कहा कि ये हार उनकी टीम को आने वाले समय में मजबूत बनाएगी क्योंकि वो पिछले एक महीने के दौरान अपने प्रदर्शन से सीख लेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘ये थोड़े समय तक हमें आहत करती रहेगी। निश्चित रूप से, खिलाड़ियों और विभिन्न कोचों के बीच कुछ बातचीत चल रही है, लेकिन उम्मीद है कि हम इससे सकारात्मक चीजों को लेकर सीख लेंगे और आगे खिलाड़ियों को मजबूत बनाएंगे।’’