उमर अकमल © Getty Images
उमर अकमल © Getty Images

पाकिस्तान के बल्लेबाज उमर अकमल को भले ही पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने मिकी आर्थर के खिलाफ बेबुनियाद आरोप के मामले में कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है लेकिन इसके बावजूद वो चुप होने का नाम नहीं ले रहे हैं। उमर अकमल ने पाकिस्तान के हेड कोच मिकी आर्थर एक और बड़ा आरोप लगाते हुए कहा है कि उन्हें जानबूझकर पाकिस्तानी टीम से निकाला गया और चैंपियंस ट्रॉफी से पहले नकली फिटनेस टेस्ट कराए गए ताकि उन्हें फेल कर वापस पाकिस्तान भेज दिया जाए।

अकमल ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘फिटनेस टेस्ट मुझे टीम से बाहर करने के लिये कराये गये थे। ’’ अकमल और आर्थर के बीच रिश्ते पिछले साल से ही अच्छे नहीं हैं जब पाकिस्तान ने ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था और कोच ने इस बल्लेबाज की खराब फिटनेस की शिकायत की थी। उमर अकमल के इस बयान के बाद पीसीबी ने कड़ा रुख अख्तियार करते हुए बयान जारी किया है। बयान में कहा गया है ‘‘आर्थर ने उमर को वनडे फॉर्मेट की योजनाओं में शामिल किया लेकिन बार बार मौका दिये जाने के बावजूद वो जरूरी फिटनेस स्तर हासिल नहीं कर सके। ’’

इससे पहले उमर अकमल ने पाकिस्तानी कोच मिकी आर्थर पर गाली देने और एनसीए में प्रैक्टिस नहीं करने देने का आरोप लगाया था, जिसके बाद पीसीबी ने उन्हें कारण बताओ नोटिस देकर जवाब भी मांगा गया है। उमर अकमल के इस व्यवहार की चारों तरफ आलोचना हो रही है। पाकिस्तान के कई पूर्व क्रिकेटर उमर अकमल को मुंह बंद कर खेल पर ध्यान देने की सलाह दे रहे हैं।

वसीम अकरम ने पाकिस्तानी मीडिया से बातचीत करते हुए कहा, ‘उमर अकमल को 2 हफ्तों तक कुछ भी नहीं बोलना चाहिए, बोलना ही है तो मैदान में अपने बल्ले से बोलें। मैं नहीं जानता कि उमर अकमल के परिजन उन्हें टीवी पर इंटरव्यू ही क्यों देने देते हैं। दो बार आपको खराब फिटनेस के चलते टीम से बाहर निकाल दिया गया तो क्या कोच आपसे प्यार से बात करेगा। कोच से लड़ना उमर अकमल के लिए सही नहीं है। अगर उमर अकमल टीम में वापसी करेंगे तो दूसरे खिलाड़ी उनसे बात करने से बचेंगे, क्योंकि वो सोचेंगे कि ये बाहर जाकर ना जाने क्या बयान दे देंगे।’ नेटवेस्ट ब्लास्ट: टी20 मैच के दौरान अपने ही टीम के खिलाड़ी से भिड़े मोहम्मद आमिर, देखें वीडियो

(पीटीआई इनपुट के साथ)