Umesh Yadav: All the fast bowlers know there is a good competition
उमेश यादव (IANS)

भारतीय टीम का तेज गेंदबाजी समूह फिलहाल विश्व क्रिकेट के बेहतरीन पेस अटैक्स में से एक है। जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा और उमेश यादव ने तीनों फॉर्मेट्स में अपनी-अपनी जिम्मेदारियां बखूबी संभाली हुई हैं। सभी तेज गेंदबाज फॉर्म में हैं और लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं जो कि टीम के लिए शानदार बात है। लेकिन इससे टीम में जगह पक्की करने को लेकर प्रतिद्वंदिता भी कड़ी हो गई है।

यादव का कहना है कि सभी खिलाड़ी इसके बारे में जानते हैं और ये उन्हें और अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करता है। उन्होंने कहा, “सभी तेज गेंदबाजों को पता है कि टीम में अच्छी प्रतिस्पर्धा है और सभी को मौका मिलेगा। क्योंकि हमें लगातार टेस्ट मैच खेलने हैं। जो अच्छा करेगा उसे और मौके मिलेंगे। अगर हम इस तरह से सोचे तो ये (प्रतिस्पर्धा) हमारे लिए अच्छी ही है क्योंकि हम अपने आपको सुधारने की कोशिश करेंगे।”

वैसे इस कड़ी प्रतिद्वंदिता का सबसे ज्यादा प्रभाव यादव पर ही पड़ा है। साल 2016-17 में विदर्भ के लिए सफल घरेलू सीजन खेलने के बावजूद उन्हें टीम में मौका नहीं मिल पाया था, क्योंकि भुवी, इशांत और शमी लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे और बुमराह ने भी टेस्ट क्रिकेट में धमाकेदार इंट्री की थी। ऐसे में यादव के लिए जगह बनाना मुश्किल था।

विहारी-रहाणे ने जड़े अर्धशतक, भारत-विंडीज ए अभ्यास मैच ड्रॉ

लेकिन उन्होंने टीम से बाहर रहने पर इस खाली समय का सही इस्तेमाल किया और अपनी गेंदबाजी पर काम किया। इस बारे में उन्होंने कहा, “आपको ऑफ टाइम की जरूरत होती है क्योंकि तब ही आप अपनी मानसिकता को बदल सकते हैं। मैंने अपने कोच के साथ काम किया और उनके विचार जाने। वो काफी सकारात्मक थे और आपको यही चाहिए होता है। जब कोई आपकी बात को सकारात्मकता के साथ सुनता है, आपको विश्वास हो जाता है कि आप सुधार कर रहे हैं।”

उमेश ने बताया कि इस दौरान उन्होंने टीम इंडिया के साथी खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ से भी बातचीत की और सभी ने उनका समर्थन किया। उन्होंने कहा, “मैंने बल्लेबाजों और सपोर्ट स्टाफ से बात की और उन्होंने कहा कि मैं जो कर रहा हूं वो काम कर रहा है।”

‘भारत को टेस्ट सीरीज में हराने के लिए मानसिक तौर पर मजबूत होना बेहद जरूरी’

वेस्टइंडीज ए के खिलाफ खेले गए अभ्यास मैच में तीन विकेट लेने वाले यादव ने आगे कहा, “बतौर तेज गेंदबाज आपको लय हासिल करने के लिए अभ्यास की जरूरत होती है। ये जानना होता है कि आपको कौन सी लाइन और लेंथ पर गेंदबाजी करना ही। मैंने वही करने की कोशिश की, अपनी लय को ठीक करना, खुद को मैच के हालातों के लिए तैयार करना।” लय में वापस लौटे उमेश अब वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज में खेलने के लिए तैयार हैं।