Undercover spotters to combat racism in Edgbaston T20I
edgbaston.com/

बर्मिंघम। भारत और इंग्लैंड के बीच इस हफ्ते संपन्न पांचवें टेस्ट के दौरान दर्शकों पर नस्ली बर्ताव के आरोपों को देखते हुए वारविकशर एजबस्टन में दोनों टीम के बीच होने वाले दूसरे टी20 के दौरान ‘अंडरकवर स्पॉटर्स’ (दर्शकों के बीच घुले मिले कर्मचारी) तैनात करेगा। काउंटी ने गुरुवार को यह घोषणा की।

भारत के कई समर्थकों ने पांचवें टेस्ट के दौरान अन्य प्रशंसकों पर नस्ली दुर्व्यवहार का आरोप लगाया था। इंग्लैंड ने यह टेस्ट सात विकेट से जीतकर श्रृंखला 2-2 से बराबर की। क्लब ने बयान में कहा, ‘‘दुर्व्यवहार पर नजर रखने और तुरंत कार्रवाई के लिए इसकी जानकारी देने के इरादे से फुटबॉल की तरह अंडरकवर स्पॉटर्स को पूरे स्टेडियम में तैनात किया जाएगा।’’

नस्ली दुर्व्यवहार से निपटने के लिए वारविकशर ने कई कदमों की घोषणा की। वारविकशर का मुख्यालय एजबस्टन में है। अन्य कदमों में किसी भी तरह की घटना से निपटने के लिए अधिक संख्या में पुलिसकर्मियों की मौजूगी, एजबस्टन मोबाइल ऐप के जरिए नस्लवाद को लेकर जागरूकता पैदा करना, एरिक होलीस स्टैंड में प्रत्येक सीट पर ‘क्यूआर’ कोड स्टिकर लगाना जिससे लोगों को ऐप के साथ जोड़ा जा सके, कर्मचारियों की जैकेट पर शून्य सहिष्णुता के संदेश और प्रशंसकों को एरिक होलीस स्टैंड में कलाई पर शून्य सहिष्णुता के बैंड पहनकर आने के लिए प्रेरित करना शामिल है।

क्लब ने कहा कि वे किसी भी तरह के नस्ली बर्ताव की सार्वजनिक निंदा जारी रखेंगे और अगर कोई नफरत फैलाने वाले अपराध का दोषी पाया गया तो एजबस्टन से उसे प्रतिबंधित किया जाएगा और इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले सभी क्रिकेट मैदानों पर इस प्रतिबंध को लागू करेगा।

एजेंसी- पीटीआई भाषा