Video: Wriddhiman Saha shows awesome wicket keeping skills at Pune
रिद्दिमान साहा (BCCI)

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पुणे में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के दौरान फैंस को मैदान पर नए नया सुपरहीरो देखने को मिला, सुपरमैन या बैटमैन नहीं बल्कि रिद्दि-मैन। भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्दिमान साहा ने मैच के चौथे दिन शानदार विकेटकीपिंग का प्रदर्शन किया, जिससे उनके आलोचकों को करारा जवाब मिला।

साहा ने दिन के पहले सेशन में उमेश यादव के ओवर में थ्यूनिस डी ब्रॉयन का शानदार कैच पकड़ा। ओवर की चौथी गेंद डी ब्रॉयन के बल्ले से लगी और साहा ने बाईं तरफ डाइव लगाकर एक हाथ से फ्लाइंग कैच पकड़ा।

दूसरी बार दर्शकों को रिद्दि-मैन की झलक 24वें ओवर में देखने को मिली, जब साहा ने रविचंद्रन अश्विन की गेंद पर विपक्षी कप्तान फाफ डु प्लेसिस का करीबी कैच पकड़ा। गेंद डु प्लेसिस के बैट से लगकर सीधे उनके दस्तानों में आई थी लेकिन फिर हाथ से छूट गई। हालांकि तीन बार गेंद छूटने के बाद साहा ने आगे की तरफ डाइव लगाकर आखिरकार कैच पकड़ ही लिया। साहा ने पुणे मैच में कुल पांच कैच पकड़े।

टीम इंडिया ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, ऑस्ट्रेलिया को पछाड़ा

मैच के बाद विकेटकीपिंग की तैयारी के बारे में साहा ने बताया, “तैयारी के लिए, उमेश, इशांत और शमी ने मेरे लिए गेंदबाजी की भी और हम उसकी तरीके से अभ्यास किया था, जिससे मुझे तेज गति के गेंद के खिलाफ अच्छी प्रैक्टिस करने को मिली। हमारे ट्रेनर्स ने स्ट्रैच, आइस-बॉथ में मदद की। हमने मैच के दिन भी ट्रेनिंग की थी इसलिए मेरी फिटनेस और विकेटकीपिंग का श्रेय उन्हें भी जाता है।”

युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत की जगह जब इंजरी से वापस लौट रहे रिद्दिमान साहा को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में मौका दिए जाने पर क्रिकेट फैंस ने सवाल उठाए थे। पंत के पक्ष में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में बनाए रिकॉर्ड शतक थे लेकिन पुणे टेस्ट में शानदार प्रदर्शन कर साहा ने साबित किया कि टेस्ट में पूर्ण विकेटकीपर की भूमिका कितनी अहम होती है।