Vijay Shankar: I will look to express myself a lot more in Australia series
Vijay Shankar the bowler has not convinced in ODIs yet. © AFP

ऑस्ट्रेलिया के भारत दौरे पर होने वाली वनडे-टी20 सीरीज के लिए भारतीय स्क्वाड में शामिल हुए विजय शंकर के लिए ये सीरीज सुनहरा मौका है। ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड के खिलाफ साीमित ओवर सीरीज के दौरान बीसीसीआई का लगाया सस्पेंशन झेल रहे हार्दिक पांड्या की जगह शंकर को टीम में मौका दिया गया था। शंकर का कहना है कि अगर उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में मौका मिलता है तो वो अपने आपको साबित करने की पूरी कोशिश करेंगे।

ये भी पढ़ें: मेलबर्न स्टार्स को 13 रनों से हराकर मेलबर्न रेनेगेड्स ने पहला खिताब जीता

इंडिया टुडे से बातचीत में भारतीय ऑलराउंडर ने कहा, “पिछली बार जब मैं निदाहास ट्रॉफी खेल रहा था, तो मेरी मानसिकता विकेट लेने की थी। हालिया समय में, मैं मानसिक तौर पर खुद को रोक रहा था। मैं सही एरिया में गेंद करने के बारे में कोशिश कर रहा था। शायद अगर ऑस्ट्रेलिया सीरीज में मुझे मौका मिलता है तो मैं गेंद के साथ अपने आपको साबित करने की कोशिश करूंगा।”

अपने हालिया प्रदर्शन में किए बदलाव पर शंकर ने कहा, “मैं अब अपने खेल के बारे में ज्यादा सोचता हूं। मैं कोशिश करूंगा और दूसरों से भी सीखूंगा। इस दौरान, मुझे लगा कि मैं अपने आपको रोक रहा हूं। मैं अपनी गति से खुश थी लेकिन न्यूजीलैंड में मैंने जिस गति से गेंदबाजी की, मैं उससे बेहतर कर सकता हूं।”

ये भी पढ़ें: कार्तिक वनडे टीम से बाहर, रिषभ पंत का विश्व कप टिकट हुआ पक्का !

शंकर ने आगे कहा,  “जैसा कि मैने कहा, मैं अपने आपको रोक रहा था। देखें तो निदाहास ट्ऱॉफी में मैं शॉर्ट गेंद का इस्तेमाल कर रहा था जो कि मेरी ताकत है। लेकिन हाल में मैंने इसका इस्तेमाल नहीं किया। मैंने कोई वैरिएशन करने की कोशिश नहीं की। मैंने सोचा कि गेंद को सही एरिया में करने की कोशिश की जाय। यही मेरी मानसिकता थी।”