विराट कोहली © Getty Images
विराट कोहली © Getty Images

टेस्ट सीरीज में 3-0 से ऐतिहासिक जीत दर्ज करने के बाद टीम इंडिया ने वनडे सीरीज का आगाज भी धमाकेदार जीत से किया है। दांबुला में खेले गए पहले वनडे मैच में भारत ने 9 विकेट से जीत हासिल की। बतौर कप्तान ये विराट कोहली के करियर की 23वीं वनडे जीत है। कोहली लगातार एक के बाद एक सीरीज जीतते जा रहे हैं और अब उनकी नजरें सीधा 2019 के विश्व कप पर है। दांबुला वनडे में शानदार जीत के बाद कोहली ने ये बयान दिया कि अब टीम को 2019 विश्व कप की तैयारी शुरु कर देनी चाहिए। कोहली ने कहा, “मुझे लगता है कि हमे 2019 विश्व कप की तैयारी 24 महीने पहले से ही शुरू कर देनी चाहिए। इसलिए मैं लगातार प्रयोग कर रहा हूं। हम लगातार चुनौतियां स्वीकार कर रहे हैं और नई चीजें करने की कोशिश कर रहे हैं, ऐसी चीजें जो हम आमतौर पर नहीं करते है। आने वाले मैचों में आप कई हैरान करने वाले बदलाव देख सकते हैं।”

कोहली के बयान से तो यही लगता है कि आज के मैच में कुलदीप यादव की जगह अक्षर पटेल को खिलाना इसी योजना का हिस्सा था। कोहली ने इस बारे में कहा, “सभी खिलाड़ी इसमें अपना योगदान दे रहे हैं और इसे लेकर मैं काफी उत्साहित हूं। हमे लगता था कि अक्षर बेहतरीन फील्डर है और बतौर बल्लेबाज टीम की मदद कर सकता है। हमे लगा कि एक रिस्ट स्पिनर काफी है। साथ ही अक्षर धमाकेदार बल्लेबाज है और बड़े शॉट लगा सकता है। अगर विकेट सूखा होता तो हम तीन स्पिनर और एक ऑलराउंडर तेज गेंदबाज के साथ खेल सकते हैं। सीरीज की शुरुआत में हमें अपनी बल्लेबाजी को अतिरिक्त मजबूती देनी जरूरी है, अक्षर टीम में संतुलन लाता है।” [ये भी पढ़ें: भारत बनाम श्रीलंका, पहला वनडे: भारत ने श्रीलंका को 9 विकेट से हराया]

आज के मैच में 90 गेंदो पर ताबड़तोड़ 132 रनों की पारी खेलने वाले शिखर धवन की भी कोहली ने जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, “शिखर के लिए पिछले तीन महीने अच्छे रहे हैं। वह गेंद को बल्ले के बीच से हिट कर रहा है। जिस तरह वह बल्लेबाजी करता है वह आपको मैच जिता सकता है और हम पूरी कोशिश करेंगे कि वह लंबे समय तक ऐसे ही खेलता रहे। जब वह खेलता है तो वह मैच जिताता है, टेस्ट मैचों में भी वह अपने बल्ले के दम पर मैच जिता सकता है।”

कोहली ने माना कि श्रीलंका की शानदार शुरुआत को देखकर उन्हें लग रहा था कि टीम को 300 के स्कोर का पीछा करना पड़ेगा। कप्तान ने टीम को मैच में वापस लाने का श्रेय गेंदबाजों को दिया। कोहली ने कहा, “उन्हें अच्छी शुरुआत मिली थी। हमे लगा था कि हमें 300 का पीछा करना पड़ जाएगा। बल्लेबाजी के लिए यह बढ़िया विकेट है। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने के पीछे कारण ये था कि हमे अंदेशा था कि पिच दिन के समय धीमी होगी।” कोहली का अनुमान एकदम सही था क्योंकि दांबुला कि पिच पर गेंद ही नहीं बल्ले भी फंस रहे थे। अगर आपको शक है तो रोहित शर्मा से पूछ लें।