Virat Kohli against ICC’s 4 day test match idea
Virat Kohli © IANS

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शनिवार को आईसीसी द्वारा प्रस्तावित ‘चार दिवसीय टेस्ट’ का कड़ा विरोध किया और कहा कि वह खेल के पारपंरिक पांच दिवसीय प्रारूप में छेड़छाड़ के पक्ष में नहीं हैं।

पढ़ें:- IPL 2020: दिन में केवल एक मैच कराना चाहता है स्‍टार स्‍पोर्ट्स, जल्‍द मैच शुरू करने की भी रखी मांग

भारतीय कप्तान को लगता है कि पांच दिवसीय में एक दिन कम करने की इच्छा सही नहीं हो सकती क्योंकि फिर इसे तीन दिवसीय करने की भी बातें होने लगेंगी।

कोहली ने कहा, ‘‘आप सिर्फ दर्शकों की संख्या, मनोरंजन और ऐसी ही कुछ दूसरी बातें कर रहे हो। मुझे लगता है कि फिर आपकी इच्छा सही नहीं होगी क्योंकि फिर आप तीन दिवसीय टेस्ट की बात करोगे। मेरा मतलब है कि यह सब कहीं खत्म नहीं होगा। फिर आप कहोगे कि टेस्ट क्रिकेट विलुत्त हो रहा है। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘इसलिये मैं इसके हक में नहीं हूं। मुझे लगता है कि खेल के पारंपरिक प्रारूप के साथ यह उचित होगा। शुरू में क्रिकेट कैसे शुरू हुआ और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पांच दिवसीय टेस्ट सर्वश्रेष्ठ हुआ करता था।’’

पढ़ें:- AUS vs NZ: मार्नस लबुशाने ने करियर का पहला दोहरा शतक जड़ते ही तोड़ दिया स्‍टीव स्मिथ का ये रिकॉर्ड

श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज से पहले विराट ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘मेरे हिसाब से, इसमें कोई छेड़छाड़ नहीं किया जाना चाहिए। जैसा कि मैंने कहा कि दिन-रात्रि मुकाबला टेस्ट क्रिकेट का व्यवसायीकरण की ओर एक और कदम है। इसके लिये रोमांच पैदा करना एक अलग बात है लेकिन इसमें ज्यादा छेड़छाड़ नहीं की जा सकती। मैं ऐसा नहीं मानता। ’’

भारत ने हाल में दिन-रात्रि टेस्ट खेला और कोहली अभी पांच दिवसीय प्रारूप में केवल यही बदलाव देखना चाहते हैं। ‘‘मेरे हिसाब से टेस्ट क्रिकेट में बस दिन-रात्रि टेस्ट का ही बदलाव बहुत है।’’

कोहली ने कहा, ‘‘टी20 नये प्रारूप के हिसाब से अच्छा था। मुझसे 100 गेंद के प्रारूप (ईसीबी द्वारा शुरू किये गये) के बारे में पूछा गया और मैंने कहा कि मैं नहीं जाऊंगा और खुद को एक और प्रारूप को नहीं आजमाऊंगा, क्योंकि पहले ही बहुत कुछ चल रहा है।’’