Virat Kohli: Ambati Rayudu is the solution of Team India’s middle-order conundrum
Virat Kohli (Getty Image)

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ गोवाहाटी वनडे से पहले भारतीय मध्यक्रम की गुत्थी सुलझा ली है। कप्तान का कहना है कि पहले वनडे के लिए टीम में शामिल हुए अंबाती रायडू भारतीय टीम की इस समस्या का हल होंगे।

कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, “लंबे समय से हम जिस एक नंबर की परेशानी हल करने की कोशिश कर रहे हैं वो है नंबर चार। हमने कई खिलाड़ियों को मौके दिए लेकिन दुर्भाग्य से हर कोई अपनी जगह पक्की करने और मौके का फायदा उठाने में नाकाम रहा। रायडू के टीम में आने और एशिया कप में अच्छा प्रदर्शन करने से अब बात केवल उसे विश्व कप से पहले पर्याप्त समय देने की है और हमारी इस नंबर की समस्या हल हो जाएगी।”

एशिया कप में अच्छा प्रदर्शन करने से पहले रायडू ने चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते हुए आईपीएल 2018 में भी धमाकेदार बल्लेबाजी की थी। जिसके दम पर ही टीम इंडिया में उनकी वापसी हुई थी। इस दौरान रायडू को फिटनेस समस्या और यो-यो टेस्ट से भी गुजरना पड़ा लेकिन वो कमबैक करने में सफल रहे।

इस बारे में कोहली ने कहा, “टीम को एहसास हुआ और मैने भी देखा कि रायडू मध्यक्रम के बल्लेबाज की भूमिका निभाने के लिए सही है। हमे लगता है कि मध्यक्रम अब थोड़ा ज्यादा संतुलित है। हमे ये भी लगता है कि वो इस स्पॉट पर खेलने के लिए सही शख्स है। उसके पास अनुभव है और उसने अपने राज्य की और आईपीएल टीम के लिए कई मैच जीते हैं। भारत के लिए उसका वनडे रिकॉर्ड पहले से ही अच्छा है। मुझे लगता है कि बल्लेबाजी क्रम की परेशानी हल हो गई है।”

कप्तान कोहली विश्व कप से पहले सही टीम कॉम्बिनेशन तैयार करना चाहते हैं। कोहली को उम्मीद है कि वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज से बाद टीम की कुछ परेशानियां हल हो जाएंगी। उन्होंने कहा, “अब इन 18 मैचों में हमे सही कॉम्बिनेशन ढूंढना होगा जिसे हम विश्व कप में ले जाना चाहते हैं। इंजरी वगैरह को छोड़ दें तो हम एक कॉम्बिनेशन को लगातार खिलाना चाहते हैं। गेंदबाजों को वनडे के बीच बीच में आराम देने के अलावा हमने केवल नंबर चार के बल्लेबाज को बार बार बदला है क्योंकि हम किसी एक को इस जगह पक्का करना चाहते थे।”