Virat Kohli: Batsmen have to step up in Melbourne to help bowlers hard work
Virat Kohli (File Photo) @ AFP

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने बुधवार से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरू हो रहे बाॅक्सिंग डे टेस्ट से पूर्व अपने बल्लेबाजों से कहा कि वो गेंदबाजी इकाई के शानदार प्रयासों के समर्थन में योगदान दें।

पर्थ के चुनौतीपूर्ण विकेट पर कप्तान कोहली ने शानदार शतक जड़ा था जबकि चेतेश्वर पुजारा ने एडिलेड में भारत की जीत में निर्णायक भूमिका निभाई लेकिन अन्य बल्लेबाज गेंदबाजों की बराबरी का योगदान नहीं दे पाए जिन्होंने अब तक चार पारियों में सभी 40 विकेट चटकाए हैं।

कोहली ने तीसरे टेस्ट की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘यह बल्लेबाजों के लिए बेहद मेहत्वपूर्ण है कि वे जिम्मेदारी लें क्योंकि सभी देख सकते हैं कि हमारे गेंदबाज काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। अन्यथा हम जो स्कोर बना रहे हैं उसके साथ गेंदबाज कुछ भी नहीं कर पाएंगे।’’

पढ़े:- केएल राहुल- मुरली विजय बाहर, मयंक अग्रवाल को डेब्यू का मौका

उन्होंने कहा, ‘‘अगर हम बाद में बल्लेबाजी करते हैं तो बढ़त बनाने या विरोधी टीम के स्कोर के जितना अधिक संभव हो उतना अधिक करीब पहुंचने का प्रयास करते हैं। अगर आप भी बड़ा स्कोर बनाते हो तो फिर यह दूसरी पारी का मुकाबला बन जाता है और अगर आप पहली पारी में अच्छी बढ़त ले लेते हैं तो फिर इसका फायदा उठा सकते हैं।’’

कोहली ने कहा, ‘‘बल्लेबाजों को सामूहिक प्रयास करना होगा। मैं व्यक्तिगत तौर पर नहीं कहूंगा कि किसी को क्या करने की जरूरत है लेकिन बल्लेबाजी इकाई के रूप में निश्चित तौर पर हमें बेहतर प्रदर्शन करना होगा।’’

भारतीय कप्तान ने हालांकि स्पष्ट किया कि मेलबर्न टेस्ट पर उनकी एडिलेड टेस्ट में जीत या पर्थ टेस्ट में हार का कोई असर नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा, ‘‘एक टीम के रूप में मुझे नहीं लगता कि 2-0 से आगे होने, 0-2 से पिछड़ने या 1-1 से बराबर होने का इस पर कोई असर पड़ता है कि अगले दो टेस्ट में क्या होने वाला है।’’

पढ़े:- BBL में अंग्रेजों का बोलबाला, बटलर-कर्रन ने खेली धमाकेदार पारी

नाथन लियोन ने अब तक दो टेस्ट में 16 विकेट चटकाकर भारतीय बल्लेबाजों को काफी परेशान किया है और कोहली ने इस ऑफ स्पिनर की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘‘लियोन काफी अच्छा गेंदबाज है। वो लगातार अच्छे क्षेत्र में गेंदबाजी करता है। इस तरह के गेंदबाज के खिलाफ हमारे पास योजना होनी चाहिए जिससे कि हम रन बनाने के विकल्पों को भी ढूंढ सकें क्योंकि अगर उसे लंबे समय तक एक ही जगह पर गेंदबाजी करने दी जाए तो वह और अधिक खतरनाक बन जाएगा।’’

लियोन का प्रदर्शन इसलिए भी विशेष है कि उन्होंने अपने अधिकांश टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया में खेले। उन्होंने कहा, ‘‘अगर कोई स्पिनर ऑस्ट्रेलिया में इतनी अच्छी गेंदबाजी करता है तो यह बड़ी चीज है। हम इसे चुनौती के रूप में ले रहे हैं और निश्चित तौर पर हम उसके खिलाफ अपने खेल में सुधार करना चाहते हैं। हमने अभ्यास के दौरान मेहनत की है और अब मायने यह रखता है कि मैदान पर कौन इसे लागू कर पाएगा।’’

पिछली बार जब भारत एमसीजी पर खेला था तो वो टेस्ट ड्रॉ पर समाप्त हुआ था। कोहली और अजिंक्य रहाणे ने उस मैच में शतक जड़े थे। कोहली ऑस्ट्रेलिया में दूसरी बार बॉक्सिंग डे टेस्ट खेल रहे हैं और इसे लेकर काफी उत्सुक हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह बेहतरीन है। बेशक पहला दिन सबसे महत्वपूर्ण होता है और हम काफी लोगों के आने की उम्मीद कर रहे हैं।’’

(एजेंसी इनपुट के साथ)