टी20 क्रिकेट की बढ़ती लोकप्रियता के बीच टेस्ट फॉर्मेट को बचाने के लिए कई जा रहे अथक प्रयासों के बाद भी ये फॉर्मेट दर्शकों से भरा स्टेडियम पाने में नाकामयाब है। लेकिन विश्व क्रिकेट के शीर्ष खिलाड़ी आज भी टेस्ट फॉर्मेट को सर्वश्रेष्ठ मानते हैं, इन खिलाड़ियों में भारतीय दिग्गज विराट कोहली (Virat Kohli) भी शामिल हैं।

विराट कोहली ने गुरुवार को इंस्टाग्राम लाइव सेशन के दौरान कहा कि टेस्ट क्रिकेट खेलकर वो बेहतर इंसान बने। भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘टेस्ट क्रिकेट, टेस्ट क्रिकेट, टेस्ट क्रिकेट, टेस्ट क्रिकेट और टेस्ट क्रिकेट। मैंने पांच बार ये कहा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘क्योंकि ये जीवन का प्रतिनिधित्व करता है। आप रन बनाओ या नहीं, जब अन्य बल्लेबाजी कर रहे हों तो आपको ताली बजानी होती है। आपको अपने कमरे में वापस लौटने के बाद अगले दिन उठकर फिर मैदान में उतरना पड़ता है।’’

भारत की ओर से 86 टेस्ट में 27 शतक की मदद से 7,240 रन बनाने वाले कोहली ने कहा, ‘‘आपको दिनचर्या का पालन करना होता है, फिर आप चाहे इसे पसंद करो या नहीं। ये जीवन की तरह है जहां आपको पास प्रतिस्पर्धा पेश नहीं करने का विकल्प नहीं है। टेस्ट क्रिकेट ने मुझे बेहतर इंसान बनाया।”

कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम पिछले तीन सालों से टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर बनी हुई है और आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने की मजबूत दावेदार है।