© AFP
© AFP

कप्तान विराट कोहली पूर्व दिग्गज खिलाड़ी सुनील गावस्कर के बाद ऐसे दूसरे भारतीय क्रिकेटर बन गये हैं जो आईसीसी टेस्ट खिलाड़ियों की रेटिंग में 900 अंकों के आंकड़े तक पहुंचे हैं। आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम में शामिल गावस्कर द ओवल में 1979 में अपने 50वें टेस्ट में 12 और 221 रन की पारी के दम पर 887 रेटिंग अंक से 916 अंक तक पहुंचे थे जो उनके करियर की सर्वश्रेष्ठ रेटिंग है।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सेंचुरियन टेस्ट में 21वां शतक लगाकर कोहली ने ये उपलब्धि अपने 65 टेस्ट में हासिल की। मैच से पहले उनके 880 अंक थे जो 153 और पांच रन की उनकी पारियों के बाद 900 हो गया। सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ दो अन्य भारतीय बल्लेबाज हैं जो 900 अंकों के आंकड़े के सबसे करीब पहुंचे थे लेकिन कभी उसे पार नहीं कर सके। तेंदुलकर 2002 में 898 और राहुल द्रविड़ 2005 में 892 अंक तक पहुंचे थे।

इस उपलब्धि को हासिल करने वाले कोहली टेस्ट इतिहास के 31वें बल्लेबाज हैं। इस तालिका में 961 अंक के साथ डॉन ब्रेडमैन टॉप पर हैं। उनके बाद स्टीव स्मिथ (947), लेन हटन (945), रिकी पॉन्टिंग और जैक हॉब्स (दोनों 942) का नंबर आता है। इस दौरान कोहली इंग्लैंड के कप्तान जो रूट को की जगह दूसरे स्थान पर आ गये। रेटिंग में टॉप चारों स्थान पर अपनी टेस्ट टीम के ऐसे कप्तान हैं जो अंडर-19 विश्व कप में खेल चुके हैं। कोहली पहले स्थान पर काबिज स्मिथ से 47 अंक पीछे हैं जबकि वो रूट से 19 अंक आगे हैं। चौथे स्थान पर काबिज केन विलियमसन रूट से 26 अंक पीछे हैं।

तो इसलिए टेस्ट क्रिकेट के लायक नहीं हैं रोहित शर्मा?
तो इसलिए टेस्ट क्रिकेट के लायक नहीं हैं रोहित शर्मा?

गेंदबाजों की टेस्ट रैंकिंग

गेंदबाजों की रैंकिंग में कागिसो रबाडा सिर्फ एक टेस्ट के बाद टॉप से दूसरे स्थान पर खिसक गये। पिछले टेस्ट में 74 रन पर एक विकेट और 47 रन पर तीन विकेट के औसत प्रदर्शन के कारण उन्हें 16 अंकों का नुकसान हुआ और टॉप पर काबिज जेम्स एंडरसन से उनके 15 अंक कम हैं। टॉप 10 में शामिल रविचंद्रन अश्विन और वेर्नान फिलेंडर भी एक-एक स्थान नीचे खिसके हैं। अश्विन अब पांचवें और फिलेंडर सातवें पायदान पर हैं। पिछले टेस्ट में पांच विकेट लेने वाले मोहम्मद शमी अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ 17वें स्थान पर आ गये।