Virat kohli better than Viv Richards, Sachin Tendulkar, says sourav ganguly
विराट कोहली © Getty Images

बंगाल टाइगर के नाम से पहचाने जाने वाले पूर्व खिलाड़ी सौरव गांगुली अपने समय के सबस सफल कप्‍तानों में से एक रहे हैं, लेकिन अगर गांगुली की माने तो मौजूदा समय में जिस तरह से विराट कोहली खेल रहे हैं वह अपने समय के सबसे सफल खिलाड़ी हैं। सौरव ने कहा कि जिस तरह से विराट कोहली दक्षिण अफ्रीका जैसे मुश्किल दौरे पर शतक पर शतक बनाए जा रहे हैं वह काबिले तारीफ है। विराट ने वनडे सीरीज में तीन शतक जमाकर पहली बार भारत को अफ्रीकी जमीन पर जीत का स्‍वाद चखाया। सौरव गांगुली विराट कोहली की तरीफ करते करते यहीं नहीं रुके। उन्‍होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि विराट विव रिचर्डस से भी बहतर हैं। दादा ने विराट को सचिन तेंदुलकर से भी उपर तरजीह दी।

इंडिया टुडे से बातचीत के दौरान सौरव से पूछा गया कि क्‍या विराट कोहली इस सदी के सबसे महान बल्‍लेबाज हैं। इसपर सोरभ ने कहा कि मेरी नजर में क्रिकेटरों के युग को लेकर तुलना करना उचित नहीं होगा, लेकिन मै यह बात भी जरूर बोलूंगा कि नंबर कभी झूठ नहीं बोलते। विराट अबतक अपने वनडे करियर में 35 शतक बना चुके हैं। रिचर्डस के शतकों की मेरे पास जानकारी नहीं है। मेरी नजर में विराट कोहली रिचर्डस से बेहतर बल्‍लेबाज हैं। दादा ने कहा कि मैने बीते 30 35 सालों में जो क्रिकेट देखा है उसके हिसाब से सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली को ही सर्वश्रेष्‍ठ बल्‍लेबाज पाया है।

क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में पांच विकेट हॉल लेने वाले पहले भारतीय बने भुवनेश्वर कुमार
क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में पांच विकेट हॉल लेने वाले पहले भारतीय बने भुवनेश्वर कुमार

सौरव गांगुली ने कहा कि विराट की उम्र अभी महज 30 साल है। वह बेहतरीन खिलाड़ी है। इतने छोटे से करियर में वह 35 शतक लगा चुका है। ऐसे में मुझे लगता है कि विराट में वह क्षमता है कि वह सचिन के शतकों के रिकॉर्ड को तोड़ सकता है। अगले सात आठ सालों में वह वनडे में सचिन के 49 शतकों के रिकॉर्ड को तोड़ सकता है।

अब तक घर में एक के बाद एक लगातार जीत का स्‍वाद चखती आ रही भारतीय टीम के लिए दक्षिण अफ्रीका का दौरा बेहद अहम माना जा रहा था। क्रिकेट के पंडितों का मानना था कि विराट एंड कंपनी की असली परीक्षा दक्षिण अफ्रीका का दौरा होगा, जहां उन्‍हें उछलती हुई गेंदों का सामना करना पड़ेगा। टेस्‍ट मैच के दौरान टीम के खराब प्रदर्शन के बाद कोहली को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था। विराट कोहली ने सभी आलोचनाओं का जवाब अपने बल्‍ले से दिया। वे न सिर्फ टेस्‍ट मैचों में अच्‍छा खेले, बल्कि वनडे में भी तीन शतक जमा डाले।