विराट कोहली शतक जमाने के बाद अभिवादन करते हुए © AFP
विराट कोहली शतक जमाने के बाद अभिवादन करते हुए © AFP

व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि वह दिसंबर में श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के दौरान क्रिकेट से ब्रेक ले सकते हैं। अगर कोहली को इस संबंध में मंजूरी मिल जाती है तो टीम इंडिया कोहली के बिना एक टेस्ट, पूरी वनडे और टी20 सीरीज खेलते नजर आएगी। गौरतलब है कि टीम इंडिया श्रीलंका के खिलाफ 16 नवंबर से 24 दिसंबर तक तीन टेस्ट, तीन वनडे और तीन टी20 खेलेगी।

इंडियंस एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक बोर्ड के एक सूत्र ने बताया, “कोहली ने बीसीसीआई को जानकारी दी है कि वह व्यक्तिगत कारणों के चलते दिसंबर में उपलब्ध नहीं रहेंगे। कोहली पिछले कुछ समय से बिना रुके क्रिकेट खेल रहे हैं और वह जाहिरतौर पर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जनवरी से शुरू होने जा रही सीरीज के पहले तरोताजा होना चाहते हैं।”

सीनियर सेलेक्शन कमिटी सोमवार को मुंबई में न्यूजीलैंड के खिलाफ 3 मैचों की टी20 सीरीज, श्रीलंका के खिलाफ वॉर्म अप मैच खेलने वाली बोर्ड प्रेसीडेंट इलेवन की टीम और श्रीलंका के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की लिए सीरीज के लिए टीम का ऐलान करेगी। पिछली बार कोहली टेस्ट मैच से तब बाहर हुए थे जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धर्मशाला टेस्ट के पहले उन्हें चोट लग गई थी। उस दौरान कोहली अपना कंधा घायल कर बैठे थे। इसके बाद टीम की अगुआई अजिंक्य रहाणे ने की थी।

'शतक बनाना विराट कोहली के बाएं हाथ का खेल'
'शतक बनाना विराट कोहली के बाएं हाथ का खेल'

श्रीलंका इस सीरीज के पहले अपना एकमात्र वॉर्म अप मैच 11 नवंबर को कोलकाता में खेलेगी। पहला टेस्ट नागपुर में 16 से 20 नवंबर को खेला जाएगा। पिछले दिनों कोहली से इस संबंध में सवाल पूछा गया था कि वह कैसे इस व्यस्त कार्यक्रम में अपनी भूमिका देखते हैं। कोहली ने कहा था कि दोनों बल्लेबाजों और गेंदबाजों को रोटेट करना होगा ताकि वे विदेशी दौरे के पहले ही थक न जाएं।

क्योंकि अगले साल दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के दौरे हैं। कोहली ने कहा, “हां, हमने शेड्यूल के बारे में बातचीत की है, यह खासा कठिन हो जाता है। इसके बारे में हमें भविष्य में बैठकर बातचीत करने की जरूरत होगी। क्योंकि, अगर आप न्यूजीलैंड को देखें तो उन्होंने चैंपियंस ट्रॉफी के बाद कोई क्रिकेट नहीं खेली है। यह एक अच्छा आराम रहा। यह बड़े टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करने और खराब प्रदर्शन करने में अंतर डाल सकता है।”