दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश के खिलाफ घरेलू सीरीज में शानदार जीत हासिल कर 360 अंकों के साथ आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक पर काबिज भारतीय टीम की सफलता के पीछे सबसे बड़ा हाथ तेज गेंदबाजों का है। जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) और भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) की गैर मौजूदगी में मोहम्मद शमी (Mohammed Sham), इशांत शर्मा (Ishant Sharma) और उमेश यादव (Umesh Yadav) ने पिछली दो टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया के लिए शानदार प्रदर्शन किया।

उमेश समेत सभी तेज गेंदबाजों का कहना है कि स्क्वाड में जगह बनाने के लिए उनके बीच कड़ी प्रतिद्वंदिता है। हालांकि इसके बावजूद सभी गेंदबाज एक दूसरे का सम्मान करते हैं और उनके बीच जलन या असुरक्षा की भावना नहीं है। कप्तान विराट कोहली का भी यही कहना है।

एजेंडा बनाकर कोच रवि शास्त्री को ट्रोल किया जा रहा है : विराट कोहली

कप्तान ने कहा, ‘‘बिलकुल भी जलन नहीं है और ये उनका सबसे मजबूत पक्ष है, वो परवाह नहीं करते कि शमी की रैंकिंग सात है या जसप्रीत की रैंकिंग क्या है या इशांत की रैंकिंग क्या है।’’

क्रिस्टियानो रोनाल्डो से प्रभावित हैं भारतीय कप्तान

कोहली क्रिकेटरों के बीच सचिन तेंदुलकर से प्रेरणा लेते हैं लेकिन खेल जगत में उनका पसंदीदा खिलाड़ी दिग्गज फुटबालर क्रिस्टियानो रोनाल्डो हैं। भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि क्रिस्टियानो रोनाल्डो क्योंकि मुझे ये बात पसंद है कि उसे रोजाना निशाना बनाया जाता है लेकिन वो मानसिक रूप से मजबूत है, कड़ी मेहनत करने का जज्बा और वापसी करने की इच्छा है। मेरे लिए ये चीजें स्वाभाविक प्रतिभा से ज्यादा मायने रखती है जो लियोनल मेस्सी में है और यही कारण है कि मैं रोनाल्डो से प्रभावित हूं।’’

कोहली को हारने की आदत नहीं

कोहली ने नए रिकार्ड बनाने को अपनी आदत में शुमार कर लिया है और इसके लिए उनकी तुलना कई बार उनके आदर्श महान बल्लेबाज तेंदुलकर से होती है। कोहली ने कहा, ‘‘मुझे नहीं पता कि इस बारे में कैसे बताऊं क्योंकि मुझे हारना नापसंद है। मुझे किसी भी चीज में हारना पसंद नहीं, खिलाड़ी इसी तरह बनते हैं, शीर्ष स्तर पर प्रतिस्पर्धा पेश करने वाले खिलाड़ियों की मानसिकता ऐसी ही होती है।’’