Virat Kohli: Didn’t think about Ravindra Jadeja option after looking at the pitch
Virat Kohli and Ravindra Jadeja. @ AFP

पर्थ टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 146 रनों में हारने के बाद भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने स्पिन गेंदबाज को प्लेइंग इलेवन में शामिल ना करने के फैसले पर सफाई दी। मैच के बाद प्रेसेंटेशन के दौरान कोहली ने कहा कि उन्होंने पर्थ के नए ऑप्टस स्टेडियम की पिच देखने के बाद स्पिन गेंदबाज रविंद्र जडेजा को खिलाने के बारे में सोचा ही नहीं।

पर्थ टेस्ट जीतकर ऑस्ट्रेलिया ने टेस्ट सीरीज में 1-1 से बराबरी की

कप्तान ने कहा, “जब हमने पिच को देखा, हमने जडेजा के बारे में बतौर विकल्प सोचा ही नहीं। हमे लगा कि चार तेज गेंदबाज काफी होंगे। नाथन लियोन ने शानदार गेंदबाजी की। ईमानदारी से कहूं तो हमने स्पिन विकल्प के बारे में कभी नहीं सोचा था।” दूसरे टेस्ट में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सबसे बड़ा अंतर मेजबान टीम के दिग्गज स्पिनर नाथन लियोन (8/106) ने पैदा किया। टीम इंडिया में हनुमा विहारी के तौर पर पार्ट टाइम स्पिन गेंदबाज मौजूद था लेकिन वो प्रमुख स्पिन की भूमिका पूरी नहीं कर पाए।

विराट ने पर्थ टेस्ट में मिली हार के बारे में बात करते हुए कहा, “बतौर टीम हम टुकड़ों में अच्छा खेलें और ये ऐसी चीज है जिसे हम पकड़ कर रखना चाहेंगे और आगे के खेलों में ले जाना चाहेंगे। ऑस्ट्रेलिया हमसे बेहतर क्रिकेट खेली और वो जीत के हकदार हैं। शायद हम 30-40 कम रनों का पीछा करना पसंद करते। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज लंबे समय तक टिके रहे और बोर्ड पर रन लगाए।”

शमी ने माना- भारत को पर्थ में स्‍पेशलिस्‍ट स्पिनर के साथ उतरना चाहिए था

पर्थ टेस्ट में भारत की बल्लेबाजी उनकी कमजोर कड़ी साबित हुए लेकिन तेज गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया। कप्तान ने भी पेस अटैक की तारीफ की। उन्होंने कहा, “ये देखना वास्तव में अच्छा था कि हमारे गेंदबाजों ने लगातार अच्छी गेंदबाजी की और दूसरी पारी में गेंद के साथ दबाव बनाए रखा।”

कोहली ने आगे कहा, “मैं अगले मैच पर ध्यान लगा रहा हूं और मुझे आशा है कि मैं जीत में योगदान दे सकता हूं।” पहली पारी में अपने विवादित विकेट के फैसले पर पर कोहली ने कहा, ” ये मैदान पर लिया गया फैसला था और मैदान पर ही रहेगा।”