Virat Kohli feels competition has  now doubled in Test cricket
विराट कोहली (Getty images)

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में खेलने को लेकर उत्साहित भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि मौजूदा समय में टेस्ट फॉर्मेट में प्रतिस्पर्धा ‘दोगुनी’ हो गई है।

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के पहले सीजन में एलीट देश- ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, इंग्लैंड, भारत, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका और वेस्टइंडीज अगले दो साल में 27 सीरीज के दौरान 71 टेस्ट मैचों में खिताब के लिए चुनौती पेश करेंगे।

दिग्गज बल्लेबाज कोहली के अनुसार टेस्ट क्रिकेट और अधिक प्रतिस्पर्धी होगा। सोमवार को वेस्टइंडीज खिलाड़ी संघ पुरस्कारों के दौरान कोहली ने कहा, ‘‘खेल और ज्यादा प्रतिस्पर्धी होने वाला है। ये सही कदम है और बेहद सही समय पर उठाया गया है। लोग बातें कर रहे थे कि टेस्ट क्रिकेट प्रासंगिक नहीं रहा या मर रहा है। मेरी नजर में पिछले कुछ सालों में प्रतिस्पर्धा दोगुनी हुई है। अब ये खिलाड़ियों पर है कि वे इस चुनौती को स्वीकार करें और जीत दर्ज करने की कोशिश करें।’’

जेसन होल्डर ने वेस्टइंडीज के टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर का खिताब जीता

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में शीर्ष पर रहने वाली दो टीमें फाइनल में भिड़ेंगी जो जून 2021 में ब्रिटेन में खेला जाएगा।चैंपियनशिप के संदर्भ में कोहली ने कहा, ‘‘अब शायद ही नीरस ड्रॉ देखने को मिलेंगे। रोमांचक ड्रॉ होंगे क्योंकि सभी अतिरिक्त अंक हासिल करना चाहेंगे।’’

वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज की तैयारी कर रहे कोहली ने स्वीकार किया कि गेंदबाजी में सुधार हुआ है और अब ये बल्लेबाजों पर निर्भर करता है कि वे इसकी बराबरी करें।

द हंड्रेड लीग में यॉर्कशायर टीम के कोच बने डेरेन लेहमैन 

व्यक्तिगत खिलाड़ियों की जगह एक टीम के रूप में बल्लेबाजी के महत्व पर जोर देते हुए कोहली ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि हम बल्लेबाज स्तर पर खरे उतरे हैं। टेस्ट स्तर पर बल्लेबाजी हमेशा मुश्किल होती है लेकिन अब इस चैंपियनशिप के साथ और कड़ी होगी जहां प्रत्येक फैसला अपकी दीर्घकालीन योजनाओं में मायने रखेगा।’’

भारत और वेस्टइंडीज अपने अभियान की शुरुआत गुरुवार से शुरू हो रहे पहले टेस्ट के साथ करेंगे। आईसीसी टेस्ट टीम रैंकिंग में शीर्ष पर चल रही भारतीय टीम के कप्तान कोहली साथ ही चाहते हैं कि उनकी टीम के प्रदर्शन में निरंतरता हो।