सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और विराट कोहली (Virat Kohli) के बीच बेहतर बल्लेबाज कौन है, ये बहस कभी खत्म नहीं हो सकती है, लेकिन इन दोनों भारतीय दिग्गजों के मन में एक दूसरे के लिए जो सम्मान है वो किसी से छुपा नहीं है। विश्व कप 2011 में जीत के बाद सचिन को कंधे पर बिठाए कोहली की तस्वीर आज भी फैंस के जेहन में ताजा है लेकिन दोनों के बीच दिल को छू लेने वाला एक और पल 2013 में मुंबई में तेंदुलकर के विदाई टेस्ट के बाद आया।

सचिन ने अमेरिकी पत्रकार ग्राहम बेन गायक को अपने यूट्यूब चैनल पर एक शो के दौरान बताया, “ओह, मुझे अभी भी ये याद है। मैं अभी-अभी चेंज रूम में लौटा था और मैं आंसू बहा रहा था। तब तक, मुझे पता था कि हां, मैं रिटायर होने जा रहा हूँ लेकिन जब वो गेंद हो गई, तो मैंने खुद से कहा … ‘ठीक है, बस इतना ही। अपने जीवन में कभी भी आप भारत के लिए एक अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी के रूप में मैदान पर नहीं चलेंगे’। इसलिए मैं सिर पर एक तौलिया डालकर अकेले एक कोने में बैठा था और आंसू पोंछ रहा था। मैं वास्तव में भावुक था और मेरे आंसू नियंत्रण नहीं कर सका। विराट उस समय मेरे पास आए, और उन्होंने मुझे वो पवित्र धागा दिया जो उनके पिता ने उन्हें दिया था,”

तेंदुलकर ने कोहली के तोहफे को अमूल्य बताया। उन्होंने कहा, “मैंने उसे थोड़ी देर के लिए रखा और उसे लौटा दिया … उससे कहा कि ये अमूल्य है। ये आपके साथ रहना चाहिए। ये आपका है और किसी और का नहीं है। आपको इसे अपनी अंतिम सांस तक रखना चाहिए। और मैंने उसे वापस दे दिया। तो वो एक भावनात्मक पल था… कुछ ऐसा जो हमेशा मेरी याद में हमेशा मेरे साथ रहेगा।”

करीब दो साल पहले इसी शो के दौरान कोहली ने खास पल के बारे में बात की थी। उन्होंने बताया कि उस खास पल में, वो धागा उनके पास सबसे खास था, और तेंदुलकर के प्रति उनके सम्मान और प्रशंसा के संकेत के रूप में, कोहली को इसे पेश करने में कोई संकोच नहीं था।

कोहली ने कहा था, “हम आमतौर पर अपनी कलाई पर धागे पहनते हैं। भारत में, बहुत से लोग करते हैं। इसलिए मेरे पिता ने मुझे एक धागा दिया था जो उनके पास था। इसलिए मैं इसे अपने बैग में रखता था। और फिर मुझे लगा कि ये सबसे मूल्यवान है। मेरे पास जो कुछ है वो ऐसा था जैसे ‘मेरे पिता ने मुझे ये दिया था और मैं आपको इससे और अधिक मूल्यवान कुछ नहीं दे सकता था। मैं चाहता हूं कि आप ये जान सकें कि आपने मुझे कितना प्रेरित किया है और आप हम सभी के लिए कितना मायने रखते हैं। ये मेरा है आपको छोटा सा उपहार’।”