Virat Kohli has matured enough since he has taken over captaincy, says Ravi Shastri
Virat Kohli, Ravi Shastri © AFP (File Photo)

आक्रामक खेल और मैदान पर स्लेजिंग करने के लिए जानी जाने वाली ऑस्ट्रेलिया टीम के खिलाफ सीरीज से पहले भारतीय कोच रवि शास्त्री ने बयान दिया है कि सीरीज का नतीजा क्या होगा ये क्रिकेट का स्तर तय करेगा, बाकी चीजें नहीं। इस साल केपटाउन में हुई बॉल टैंपरिंग की घटना में स्टीवन स्मिथ और डेविड वार्नर पर बैन लगने के बाद कंगारू टीम के रवैये में बदलाव आया है। आलोचकों ने इस घटना के लिए किसी भी कीमत पर जीत दर्ज करने की मानसिकता को जिम्मेदार ठहराया था।

शास्त्री ने रविवार को यहां दौरे की अपनी पहली प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘अंत में आपका क्रिकेट बोलता है। मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता कि ग्लेन मैग्रा या शेन वार्न कुछ कहते हैं या नहीं, वे इसके बावजूद विकेट हासिल करते। ये सामान्य सी बात है। आप जिस चीज में अच्छे हो वो काम कर रहे हो और लगातार कर रहे हो तो ये मायने नहीं रखता कि आप किस टीम की ओर से खेल रहे हो। वो क्रिकेटर अच्छा प्रदर्शन करेगा और उसकी टीम भी।’’

कप्तान विराट कोहली ने भी दौरे पर रवाना होने से पहले प्रेस कांफ्रेंस में कहा था कि प्रदर्शन करने के लिए उन्हें अपनी क्षमताओं पर भरोसा है और वो अपना उत्साह बढ़ाने के लिए बेकार की स्लेजिंग पर निर्भर नहीं हैं

कोहली के चिर परिचित आक्रामक अंदाज के बारे में पूछने पर शास्त्री ने कहा, ‘‘वो (कोहली) पेशेवर खिलाड़ी है और परिपक्व हो गया है। आप चार साल पहले (2014-15) उसे देखो तो उसके बाद से वो दुनिया भर में खेला है और टीम की कप्तानी की है। और इस अकेली चीज से ही आपके अंदर जिम्मेदारी आ जाती है।’’

खलेगी ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या की कमी

शास्त्री ने संकेत दिए कि चोटिल हार्दिक पांड्या की गैरमौजूदगी से उन्होंने एक अतिरिक्त गेंदबाज को खिलाने का मौका गंवा दिया। इस पूर्व आलराउंडर ने कहा, ‘‘हमें एक खिलाड़ी की कमी खलेगी और वो हार्दिक पंड्या है जो चोटिल है। वो गेंदबाज और बल्लेबाज के रूप में भी हमें संतुलन देता है जिसके कारण हम अतिरिक्त गेंदबाज खिला सकते हैं। उम्मीद करते हैं कि वो जल्द फिट हो जाएगा और अगर तेज गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया तो हमें उसकी कमी नहीं खलेगी।’’