विराट कोहली © Getty Images
विराट कोहली © Getty Images

वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में 105 रनों से शानदार जीत दर्ज करने के बाद कप्तान विराट कोहली के हौसले बढ़े हुए हैं। इस मैच में अजिंक्य रहाणे और युवा कुलदीप यादव के प्रदर्शन से कोहली काफी खुश हैं, उन्हें यहां से 2019 विश्व कप का रास्ता साफ दिख रहा है। वनडे विश्व कप में अभी 2 साल बाकी हैं और इस बीच कोहली कुलदीप की तरह और युवा खिलाड़ियों को मौका देकर टीम इंडिया के लिए ज्यादा से ज्यादा विकल्प तैयार करना चाहते हैं। कोहली ने कुलदीप की गेंद की दोनों तरफ स्पिन कराने की काबिलियत की काफी तारीफ की, उनका कहना है कि इसी वजह से बल्लेबाजों को उनकी गेंदे खेलने में परेशानी होती है।

मैच के बाद पत्रकारों से कुलदीप के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “एक स्पिनर हमेशा ही टीम के लिए बोनस होता है। यह हमने इस सीरीज में हासिल किया है इसलिए अब हमारे पास हर तरह के विकल्प हैं। जब आप 2019 विश्व कप की बात करते हैं तो उसके लिए हमारे पास 15 खिलाड़ी हैं। इसके साथ ही हमारे पास 10-12 खिलाड़ी बतौर विकल्प हैं जिन्हें अगले दो सालों में मौका दिया जाएगा, जिससे ये पता चलेगा कि वह दबाव कि स्थिति में किस तरह का खेल दिखाते हैं। ऐसे खिलाड़ी जो बीच के ओवरों में अपना प्रभाव छोड़ सकते हैं, खासकर की गेंदबाजी में। ये कुछ चीजें हैं जिनपर बतौर एक टीम हमें ध्यान देना है और सुधार करना है ताकि आगे चलकर हम अपने लिए दबाव में अच्छा प्रदर्शन करके दिखाने वाले सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी ढूंढ सकें।” [ये भी पढ़ें: विराट कोहली ने सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ को पीछे छोड़ा]

वहीं कोहली ने रोहित शर्मा की गैर मौजूदगी में सलामी बल्लेबाजी कर रहे अजिंक्य रहाणे को वनडे का बेहतरीन खिलाड़ी बताया। कोहली ने कहा, “जिंक्स पिछले काफी समय से वनडे टीम का हिस्सा हैं। वह ऐसे खिलाड़ी हैं जिनके पास शीर्ष क्रम में बल्लेबाजी करने की काबिलियत है। साथ ही वह तीसरे सलामी बल्लेबाज के रूप में टीम में मौजूद रहते हैं। दोनो ही मैचों में उन्होंने बढ़िया बल्लेबाजी की है। वह एक मंजे हुए टेस्ट खिलाड़ी हैं लेकिन वह दूसरे प्रारूपों में भी अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं।” [ये भी पढ़ें: टीम इंडिया ने दूसरे वनडे में वेस्टइंडीज को 105 रनों से हराया]

कोहली ने ये भी इशारा किया कि अगर रहाणे इसी तरह का प्रदर्शन करते रहे तो वह एक और गेंदबाज को अंतिम एकादश में शामिल कर सकते हैं। उन्होंने कहा, “अगर वह इसी तरह का प्रदर्शन करते रहे तो वह एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो शीर्ष क्रम के साथ- साथ मध्य क्रम में भी बल्लेबाजी कर सकते हैं। उनके रहने से आपको 2019 विश्व कप और उससे पहले की बड़ी सीरीजों में एक अतिरिक्त गेंदबाज खिलाने की आजादी मिल जाती है। ऐसे बहुत कम खिलाड़ी हैं जो टीम में दोहरी भूमिका निभा पाते हैं और मुझे लगता है कि जिंक्स उनसे में एक हैं।”