विराट कोहली  © Getty Images
विराट कोहली © Getty Images

पुणे। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह की जमकर तारीफ करते हुए आज यहां उन्हें अपना शीर्ष दो गेंदबाज करार दिया और कहा कि टीम किसी भी तरह की चुनौती के लिए तैयार है। भवुनेश्वर और बुमराह की शानदार गेंदबाजी से भारत ने न्यूजीलैंड को नौ विकेट पर 230 रन पर रोक दिया और फिर चार ओवर शेष रहते हुए लक्ष्य हासिल करके तीन मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर करायी।

कोहली ने मैच के बाद कहा, ‘‘यह हमारे लिए काफी अच्छा मैच रहा। मैंने टॉस के समय कहा था कि मैच आगे बढ़ने के साथ पिच धीमी होती जाएगी और रात में यह बल्लेबाजी के लिये बेहतर होगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘बुमराह और भुवी को इस तरह से गेंदबाजी करते हुए देखना बहुत अच्छा रहा। वे हमारे चोटी के दो गेंदबाज हैं और वे जानते हैं कि अक्सर उन्हें ही गेंदबाजी का आगाज करना है तो वे रणनीति बना सकते हैं। आज विकेट धीमा था और इसलिए उन्हें परंपरागत तरीके से विकेट लेते हुए देखना अच्छा लगा।’’ भारत की तरफ से शिखर धवन और दिनेश कार्तिक ने अर्धशतक जमाये और कोहली ने उनकी भी प्रशंसा की।

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘शिखर अच्छी बल्लेबाजी कर रहा है। किसी मैच में वह नहीं चल पाता लेकिन वह अच्छी तरह से गेंद हिट कर रहा है। दिनेश ने भी अच्छी बल्लेबाजी की तथा खुद के लिये और टीम के लिये अच्छे रन जुटाये। हम किसी भी चुनौती के लिये तैयार हैं। हमने वापसी की बात की थी और हम इसमें सफल रहे।’’

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने कहा कि इस तरह की पिच पर बड़ा स्कोर खड़ा करने पर अच्छा दबाव बनाया जा सकता था लेकिन उन्होंने भारतीय तेज गेंदबाजों भुवनेश्वर और बुमराह की भी तारीफ की।

विलियमसन ने कहा, ‘‘यह उन पिचों में से एक है जहां पर आप अच्छा स्कोर खड़ा करते हो और फिर दबाव बनाते हो तो फिर गेंदबाज आपके लिये बेहद मुश्किलें खड़ी कर देंगे। हमारे शीर्ष क्रम ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया लेकिन भारत के शुरूआती गेंदबाजों ने भी बहुत अच्छी गेंदबाजी की। उन्होंने सही जगह पर गेंद पिच करायी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे लिये यह सबक है और हम जानते हैं कि हमें भारत को हराने के लिये अच्छा प्रदर्शन करना होगा। हम यहां बड़ी उम्मीदों के साथ आये थे। हमने मुंबई में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था और हमें कानपुर में भी अच्छा खेल दिखाने की जरूरत है।’’ भुवनेश्वर को मैन ऑफ द मैच चुना गया और इस तेज गेंदबाज ने कहा कि उन्होंने सही क्षेत्र में गेंदबाजी करने की कोशिश की।

आईसीसी ने शुरू की पांडुरंग सालगांवकर के खिलाफ जांच
आईसीसी ने शुरू की पांडुरंग सालगांवकर के खिलाफ जांच

उन्होंने कहा, ‘‘आप जैसा भी अभ्यास करते हो उसको मैदान पर दोहराना चाहते हो। मैं कभी अलग से प्रयोग करने की कोशिश नहीं करता हूं। मैं इसी तरह से गेंदबाजी करता हूं। नयी गेंद को मैं स्विंग करता हूं। आज ऐसा नहीं हो रहा था और इसलिए मैंने सही क्षेत्र में गेंद पिच कराने पर ध्यान दिया। दो विकेट हासिल करने से मेरा आत्मविश्वास बढ़ा।’’