Virat Kohli: Prithvi Shaw grabbed the opportunity with both hands
Indian Test team (IANS Photo)

भारतीय टीम ने वेस्टइंडीज के खिलाफ राजकोट में अपनी सबसे बड़ी टेस्ट जीत दर्ज की। विंडीज टीम को एक पारी, 272 रनों से हराकर घरेलू मैदान पर 100वीं टेस्ट जीत हासिल की है। इसी टेस्ट मैच से भारतीय क्रिकेट के युवा सितारे पृथ्वी शॉ ने भी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था। शॉ ने अपने पहले मैच में ही शानदार शतक लगाया। जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच का खिताब मिला। कप्तान विराट कोहली ने भी इस युवा खिलाड़ी की जमकर तारीफ की।

मैच के बाद प्रेसेंटेशन के दौरान कोहली ने कहा, “मैं खुश हूं कि टीम ने इस तरह का प्रदर्शन किया। खासकर कि जड्डू (रविंद्र जडेजा) और पृथ्वी। जिस तरह पृथ्वी ने अपने डेब्यू मैच में बल्लेबाजी की, उसे देखना शानदार रहा। हालात आसान हो या ना हो, आपको फिर भी मैदान पर जाकर अपने आप को साबित करना होता है। इस लड़के ने दिखाया कि वो अलग प्रकृति का है, इसी वजह से वो इतनी जल्दी टीम में आया है। उसने दोनों हाथों से इस मौके को पकड़ा। बतौर कप्तान ये देखकर मैं काफी उत्साहित हूं।”

भारत ने जहां पहली पारी में 649/9 का स्कोर खड़ा किया था, वहीं मेहमान टीम पहली पारी में 181 और फॉलोऑन पारी में 196 पर सिमट गई। वेस्टइंडीज के बारे में बात करते हुए कोहली ने कहा, “इसके बारे में बात करना मेरा काम नहीं है। मुझे उम्मीद है कि एक टीम के तौर पर वो अपनी गलतियों पर काम करेंगे। हम भी उन चीजों को काम करना चाहते हैं, जिन पर सुधार करने की जरूरत है और विपक्षी टीम क्या कर रही है उस पर ध्यान नहीं देना चाहते।”

कप्तान कोहली ओवर रेट को लेकर बने नए नियमों से खुश नहीं हैं। उन्होंने कहा, ” ज्यादा पानी पीने को लेकर आए इन नए नियमों ओवर रेट्स अंपायरों के ऊपर हैं जो कि हमे बार बार याद दिला रहे थे। 40-45 मिनट तक पानी नहीं पीना लड़कों के लिए मुश्किल था। भारत में स्पिनर्स काफी गेंदबाजी करे हैं, हमे कभी ओवरों की कमी नहीं होगी, इसलिए इस मामले पर कुछ विचार किया जा सकता है।”