Virat Kohli reflects on his journey after completing 11 years in International cricket
विराट कोहली (Twitter/Virat Kohli)

18 अगस्त साल 2008 में भारत के श्रीलंका दौरे पर खेले गए पहले वनडे मैच से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखने वाले दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहली ने इस खेल में अपने 11 साल पूरे कर लिए हैं। इस मौके पर कोहली ने ट्विटर के जरिए अपने सफर को याद किया और युवाओं को सपनों की पीछा करने की सलाह दी।

भारतीय कप्तान ने ट्वीट किया, “साल 2008 में एक युवा खिलाड़ी के तौर पर इसी दिन पर करियर की शुरुआत करने से आज 11 साल बाद अपने सफर को याद करने तक, मैं जिसकी कल्पना भी नहीं कर सकता था भगवान ने मुझे वो शुभकामनाएं दी हैं। मैं दुआ करता हूं कि आप सभी को अपने सपनों का पीछा करने और सही रास्ते पर चलने की ताकत मिले।”

अपने पहले मैच में 12 रन पर आउट होने के बाद से कोहली ने अब तक काफी लंबा रास्ता तय कर लिया है। तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया की कप्तानी कर रहे कोहली ने अब तक 77 टेस्ट, 239 वनडे और 70 टी20 मैचों में कुल 20,502 रन बनाए हैं।

प्रैक्टिस मैच: उमेश-कुलदीप यादव चमके, भारत 200 रन की बढ़त पर

वनडे में सबसे तेज 9000, 10000 और 11000 रन बनाने का रिकॉर्ड बनाने वाले कोहली सबसे तेज 12,000 रन बनाने के सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को तोड़ने के करीब हैं। कोहली ने 230 वनडे पारियों में 11,520 रन बनाए हैं और तेंदुलकर के नाम 300 पारियों में 12,000 रन बनाने का रिकॉर्ड है। जिसे तोड़ने के लिए कोहली के बाद 69 मैच हैं।

वहीं टेस्ट और वनडे मिलाकर 68 शतक लगा चुके कोहली अपने करियर के आखिरी पड़ाव पर पहुंचने तक तेंदुलकर के शतकों के शतक के रिकॉर्ड को भी आसानी से तोड़ सकते हैं।