Virat Kohli regrets losing key moments from first innings
Virat Kohli (Getty Images)

साउथम्पटन टेस्ट में 60 रनों से हारने के बाद टीम इंडिया ने टेस्ट सीरीज भी गंवा दी है। मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कबूल किया कि पहली पारी में अगर वो आउट ना होते और भारतीय टीम बड़ी बढ़त हासिल कर लेती तो शायद मैच का नतीजा कुछ और होता।

कोहली ने कहा, “पहली पारी में हम अच्छी स्थिति में थे। मैने और पुजी (चेतेश्वर पुजारा) ने अच्छी साझेदारी बनाई। लेकिन हम उसका फायदा नहीं उठा सके। हमे 30 रनों की बढ़त दिलाने के लिए पुजारा को लगातार बल्लेबाजी करनी पड़ी। अगर निचले क्रम के बल्लेबाज अच्छा खेलते तो हम बड़ी लीड हासिल कर लेते। यही एक चीज है जो मैं इस मैच के बारे में सोच पा रहा हूं।”

भारत की पहली पारी के दौरान जब पुजारा और कोहली बल्लेबाजी कर रहे थे तो 100 रनों की बढ़त दिख रही थी लेकिन कोहली 46 रन बनाकर सैम कर्रन की गेंद पर आउट हो गए। कोहली के आउट होने के बाद निचले क्रम के बल्लेबाज टिककर बल्लेबाजी नहीं कर पाए। रविचंद्रन अश्विन और हार्दिक पांड्या खराब शॉट खेलकर आउट हुए। पुजारा की 132 रनों की संघर्षपूर्ण पारी की मदद से टीम ने 27 रनों की मामूली सी बढ़त हासिल की।

इस बारे में कोहली ने कहा, “पहली पारी की अहम फैक्टर्स को पहचान पाना मुश्किल है लेकिन यही फैक्टर्स बाद में बड़े साबित होते हैं और खेल का रुख बदल देते हैं। मुझे खुद ही लगा कि अगर मैं देर तक बल्लेबाजी करता तो लीड बड़ी हो सकती थी। उसके बाद भी हमे लगा कि हम कुछ साझेदारियों की मदद से लीड को बढ़ा सकते हैं। आखिरकार पुजारा को एक संघर्षपूर्ण पारी खेल हमे ये लीड दिलानी पड़ी। इसके अलावा मुझे नहीं लगा कि हमने और किसी एरिया में गलती की क्योंकि हमने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया था।”

आखिर में कप्तान ने कहा, “हमने इंग्लैंड को जीत के लिए मेहनत करने पर मजबूर किया। उन्होंने लंबे समय तक हमसे अच्छा क्रिकेट खेला।”