महेन्द्र सिंह धोनी के बाद अब कप्तानी की जिम्मेदारी विराट कोहली के कंधों पर होगी © AFP
महेन्द्र सिंह धोनी के बाद अब कप्तानी की जिम्मेदारी विराट कोहली के कंधों पर होगी © AFP

भारतीय वनडे टीम के नए कप्तान विराट कोहली के लिए महेन्द्र सिंह धोनी ने सिर्फ एक लीडर ही नहीं बल्कि एक रक्षकी भी भूमिका निभाई है। कोहली ने करिश्माई भारतीय कप्तान के बारे में खुलासा करते हुए बताया कि धोनी ने कई बार उनको टीम से बाहर होने से बचाया। कोहली 2008 में अपना पहला मैच खेलने से लेकर अपने पूरे करियर में धोनी के नेतृत्व में ही खेले। अपने शुरूआती दिनों में कोहली ने वनडे और टेस्ट क्रिकेट में निरंतर अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था और टीम में उनका स्थान भी पक्का नहीं था लेकिन धोनी को उनके टैलेंट और उनकी क्षमता पर भरोसा था।

बीसीसीआई डॉट टीवी को दिए गए एक इंटरव्यू में मौजूदा कप्तान कोहली ने धोनी के बारे में कहा कि वह मेरे लिए हमेशा वह व्यक्ति रहेंगे जिन्होंने मुझे शुरूआती दिनों में सही दिशा दिखाई और मुझे मौके दिये। उन्होंने मुझे एक क्रिकेटर के रूप में निखरने के लिए पर्याप्त समय दिया। कई बार मुझे टीम से बाहर होने से भी बचाया। कप्तान के रूप में धोनी की जगह लेने पर कोहली ने कहा कि निश्चित रूप से उनकी जगह लेना बड़ी जिम्मेदारी होगी। आप धोनी के बारे में सोचो तो पहला शब्द जो दिमाग में आता है वह है कप्तान। इसके अलावा आप धोनी को किसी और तरीके से नहीं देखते। वह मेरे लिए हमेशा मेरे कप्तान रहेंगे। [Also Read: विस्फोटक पारी खेल रिषभ पंत ने मनाया टीम इंडिया में चुने जाने का जश्न]

गौरतलब है कि बुधवार की शाम को धोनी ने वनडे और टी20 की कप्तानी से इस्तीफा दे दिया जिसके बाद भारतीय टीम की बागडोर कोहली को सौंपी गई जो कि पहले से ही क्रिकेट के लंबे प्रारूप में टीम का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। धोनी के इस्तीफे के बाद कप्तान के रूप में कोहली के सामने सबसे पहली चुनौती इंग्लैंड के खिलाफ वनडे और टी20 सीरीज होगी। भारतीय टीम 15 जनवरी को इंग्लैंड के साथ पुणे में पहला वनडे मैच खेलेगी।