Virat Kohli says No one in team takes my bowling seriously but I do
Virat Kohli bowling in nets

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने शानदार बल्लेबाजी से कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। कोहली के नाम आठ इंटरनेशनल विकेट भी हैं और उनको उम्मीद है यह इससे ज्यादा हो सकते थे।

दो वनडे और दो टी20 विकेट हासिल करने वाले कोहली ने मजाकिया लहजे में बताया कि आखिर क्यों उन्होंने दिसंबर 2017 के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी नहीं की।

पढ़ें:- भारत को पाकिस्तान विश्व कप में नहीं हरा सकता है- सुरेश रैना

कप्तान ने कहा, ‘‘श्रीलंका (2017 में) में वनडे सीरीज के दौरान हम लगभग सारे मैच जीत रहे थे, मैंने महेंद्र सिंह धोनी से पूछा कि क्या मैं गेंदबाजी कर सकता हूं। जैसे ही मैं गेंदबाजी के लिए तैयार हुआ बुमराह (जसप्रीत) बाउंड्री से चिल्लाया और कहा ‘कोई मजाक नहीं, यह इंटरनेशनल मैच है’।’’

उन्होंने कहा, ‘‘टीम में किसी को भी मेरी गेंदबाजी पर उतना भरोसा नहीं है, जितना मुझे है। इसके बाद मेरी पीठ में तकलीफ हो गई और इसके बाद मैंने कभी गेंदबाजी नहीं की।’’

पढ़ें:- विश्व कप के पहले मुकाबले में केदार जाधव के खेलने पर संशय

कोहली अब भी नेट पर गेंदबाजी करते हैं और इस हफ्ते अभ्यास सत्र के दौरान भी उन्होंने गेंदबाजी की।

कोहली ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में चार जबकि टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी इतने ही विकेट चटकाए हैं। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 163 गेंद फेंकी लेकिन उन्हें कोई सफलता नहीं मिली।

इस स्टार बल्लेबाज ने एक ऐसी घटना का जिक्र किया जिससे पता चलता है कि उन्होंने हमेशा अपनी गेंदबाजी को गंभीरता से लिया। कोहली ने कहा, ‘‘जब मैं अकादमी (दिल्ली में) में था तो मैं जेम्स एंडरसन के एक्शन से गेंदबाजी करने का प्रयास करता था। बाद में जब मुझे उसके साथ खेलने का मौका मिला तो मैंने उसे यह बात बताई। हम दोनों इस पर काफी हंसे।’’