लक्ष्य का पीछा करते हुए विराट कोहली का रिकॉर्ड दुनिया भर के बल्लेबाजों में सबसे बेहतर है © IANS
लक्ष्य का पीछा करते हुए विराट कोहली का रिकॉर्ड दुनिया भर के बल्लेबाजों में सबसे बेहतर है © IANS

भारत ने कल पुणे में खेले गए वनडे मैच में 351 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए शानदार जीत हासिल की। भारत की ओर से इस सफल रन चेज में एक बार फिर से विराट कोहली ने शानदार शतक जमाया। इस मैच में उनको साथ मिला केदार जाधव का जिन्होंने 65 गेंदों पर शतक जमाते हुए कोहली के साथ 200 रनों की साझेदारी कर भारत को ऐतिहासिक जीत दिलाई। इस लक्ष्य को पाने के साथ भारतीय टीम वनडे क्रिकेट इतिहास की पहली ऐसी टीम बन गई जिसने 3 बार 350 से ज्यादा का स्कोर चेज करते हुए जीत हासिल की। मगर इन तीनों मैचों में एक खिलाड़ी का योगदान जरूर रहा है।

जी हां यहां बात हो रही है विराट कोहली की। भारत ने जब भी 350 से ज्यादा का स्कोर चेज किया है कोहली के बल्ले से शतकीय पारी जरूर निकली है। लक्ष्य का पीछा करते हुए कोहली और विराट हो जाते हैं। भारत ने पहली बार 350 से ज्यादा का स्कोर 16 अक्टूबर 2013 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हासिल किया था। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 359 रनों का स्कोर खड़ा किया था। जवाब में भारत ने रोहित शर्मा के 141 और कोहली नाबाद 100 रनों की बदौलत 39 गेंद शेष रहते 9 विकेट से जीत लिया था। कोहली ने इस मैच में भारत की ओर से वनडे क्रिकेट का सबसे तेज शतक जमाया था। [Also Read: भारत की ओर से छठां सबसे तेज शतक जमाने वाले बल्लेबाज बने केदार जाधव]

इसी सीरीज में भारत ने दूसरी बार 350 का स्कोर लक्ष्य का पीछा करते हुए हासिल किया था। 30 अक्टूबर 2013 में खेले गए इस मुकाबले में कंगारू टीम ने 350 रन बनाए। जवाब में भारत ने धवन के शतक और कोहली के नाबाद 115 रनों की बदौलत 3 गेंद शेष रहते जीत हासिल कर ली। तीसरी बार इंग्लैंड के खिलाफ कल हुए मुकाबले में भारतीय टीम ने जीत हासिल की। इंग्लैंड के 351 रनों का पीछा करते हुए भारत ने एक बार विराट कोहली और केदार जाधव के शतकों की बदौलत 11 गेंद शेष रहते जीत हासिल कर ली।