© Getty Images
© Getty Images

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली की अगर मैदान पर किसी से बहस हो जाए तो वह पीछे हटने वालों में नहीं हैं। कोलकाता में खेले गए दूसरे वनडे मैच में उनकी और ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर मैथ्यू वेड के बीच जमकर तू तू-मैं मैं हो गई। यह विवाद भारतीय पारी के 33वें ओवर में शुरू हुआ, जब मार्क्स स्टोइनिस की एक गेंद को पकड़ने के दौरान वेड चोटिल हो गए और कोहली ने रन दौड़ लिया। कोहली का इस तरह से रन लेना वेड को बिल्कुल अच्छा नहीं लगा। वेड ने कहा, “मैं भी तु्म्हारी तरह रो सकता था, मैं ड्रेसिंग रूम जाकर तुम्हारे जैसा रो सकता था। हर किसी को तुमपर अफसोस होना चाहिए।”

बाद में भी दोनों के बीच मैदान पर बहस हुई जिसमें स्टोइनिस भी शामिल हुए। ऑस्ट्रेलियाई पारी में जब कुलदीप यादव ने वेड को आउट किया तो कोहली ने कुछ कहते हुए वेड को सेंड ऑफ दिया। यह पहला मौका नहीं है जब भारत-ऑस्ट्रेलिया मैचों में खिलाड़ियों के बीच बहस हुई है। बहरहाल, इस बार कोहली को पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी स्टुअर्ट क्लार्क ने अपना समर्थन दिया है। [ये भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के लिए बुरी खबर, इंदौर में भी कुलदीप यादव-चहल करेंगे परेशान!]

घटना के बारे में बातचीत करते हुए क्लार्क ने कहा कि यह एक तुच्छ बात है। उन्होंने कहा, “वेड ने एक गेंद को मिस-फील्ड किया। विराट कोहली जानते थे कि वेड चोटिल हैं या नहीं ये दूसरी बात है। वहां एक रन लेने का मौका था। क्या यह बड़ा मुद्दा है जो ऑस्ट्रेलियाई टीम के पास है? मार्क्स स्टोइनिस वेड के साथ खड़े हुए उन्हें इसका पूरा श्रेय जाता है। लेकिन वेड को अपनी क्रिकेट के लिए चिंता करनी चाहिए, न की दूसरी चीजों की। यह एक तुच्छ बात है।”

क्लार्क ने आगे कहा कि इस तरह की चीजें कोहली की आग को और तेज कर देती हैं। उन्होंने कहा, “मैं विराट कोहली के बारे में कुछ ज्यादा नहीं कहूंगा। वह हर किसी से लड़ना चाहते हैं और जब वह किसी से लड़ाई करते हैं तो 10 गुना ज्यादा अच्छा खेलते हुए प्रतीत होते हैं।”