विराट कोहली  © Getty Images
विराट कोहली © Getty Images

इसमें कोई दो राय नहीं है कि शिक्षा बच्चों के लिए बहुत जरूरी है और उन्हें बड़े होने के पहले बहुत सारी चीजों को सीखने की जरूरत होती है ताकि वे कंपटीशन वाली इस दुनिया में खुद का ख्याल रख पाएं। लेकिन बचपन में बच्चों को बच्चे की तरह की पढ़ाना-सिखाना चाहिए। हर कोई अपनी रफ्तार से सीखता है। ऐसे में अगर आप बच्चों पर दबाव बनाकर उसे पढ़ाएं तो यह ठीक नहीं है। खासतौर पर तब जब वह आपसे विनती करके कह रहा हो कि “प्यार से पढ़ाओ।”

एक ऐसा ही वीडियो सोशल मीडिया में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने शेयर किया है। इस हृदय विदारक वीडियो में एक महिला छोटी बच्ची को डरा धमाकाकर मैथ्स पढ़ा रही है। बच्ची को रोते हुए देखा जा सकता है, वह महिला से विनती कर रही है कि उसे अच्छी तरह से पढ़ाए और उसके साथ प्यार से पेश आए। लेकिन महिला बच्ची की एक भी नहीं सुनती और ऊपर से पीटती है, उसपर चिल्लाती है और अपना रौब दिखाती है।

वह एक स्मार्ट बच्ची है क्योंकि वह अपनी भावनाओं को साफ-साफ व्यक्त कर रही है। वह अपने हाथ जोड़ रही है, उसका उच्चारण साफ है। जिस तरह से उसे डरा धमकाकर पढ़ाया जा रहा है उसे देखकर वह डरी हुई है और वह लगातार उस महिला से विनती कर रही है और कह रही है, “प्यार से पढ़ाइए।” किसी भी बच्चे को इस तरह से पढ़ाना न्यायसंगत नहीं है। यह उसका उत्पीड़न करना है। यह हृदयविदारक है और इसे बंद होना चाहिए। विराट कोहली ने इस वीडियो को एक बेहतरीन कैप्शन के साथ शेयर किया है।

कोहली लिखते हैं कि आपके और मेरी तरह ही यह बच्चा इस महिला की करुणा से वंचित है। इसका कारण यह है कि बच्चे के दर्द और गुस्सा और नकारा जा रहा है और बच्चे को पढ़ाने के चक्कर में खुद का गुस्सा इतना ज्यादा है कि दया खिड़की के बाहर चली गई है। यह बेहद चौंकानेवाला और दुखद है। अगर बच्चे को धमकाया जाएगा तो वह कभी नहीं पढ़ेगा। यह दुखद है।

[ये भी पढ़ें: भारत के खिलाफ दांबुला वनडे के पहले जानें श्रीलंका टीम की मजबूती और कमजोर]

 

लोग सोशल मीडिया पर भी तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं व्यक्त कर रहे हैं। हम उम्मीद करते हैं कि इस बच्चे की पहचान हो जाए और जो महिला इस बच्चे का उत्पीड़न कर रही है उसके खिलाफ सख्त कार्यवाई हो। जिस तरह से वह लड़की ‘प्यार से पढ़ाइए’ बोल रही है वह हृदय विदारक है।