virat kohli should talk to sachin tendulkar says ajay jadeja

Virat Kohli बीते काफी समय से रन नहीं बना रहे हैं। तीन साल होने को आए जब कोहली ने आखिरी बार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतक लगाया था। अब तो हालात यहां तक पहुंच चुके हैं कि टीम में उनके स्थान को लेकर सवाल उठने लगे हैं। कोहली ने जब कप्तानी की जिम्मेदारी छोड़ी तो कहा गया कि शायद अब उनका रंग लौट आएगा। कप्तानी का दायित्व जाने के बाद शायद कोहली एक बार फिर अपने रंग में लौट आएंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

इंग्लैंड दौरे पर अब रहे हैं असफल

इंग्लैंड दौरे पर उम्मीद थी कि कोहली के शतकों का सूखा टूटेगा। कोहली ने एजबेस्टन में टेस्ट मैच में सिर्फ 11 और 20 रन बनाए। भारत उस टेस्ट मैच में सात विकेट से हारा। इसके बाद सीरीज 2-2 से बराबर हो गई। पहले टी20 में कोहली को आराम दिया गया लेकिन अगले दो मैचों में उन्होंने 1 और 11 रन बनाए।

मौके भुना नहीं पाए

ग्रोइन इंजुरी के चलते कोहली पहले वनडे इंटरनैशनल में नहीं खेले लेकिन दूसरे वनडे में उन्होंने सिर्फ 16 रन बनाए। लॉर्ड्स में खेले गए दूसरे वनडे में कोहली ने तीन अच्छे चौके लगाए। वह पुरानी लय को हासिल करते हुए दिखे। लेकिन इसके बाद डेविड विली की गेंद पर विकेट के पीछे कैच आउट हो गए। भारतीय टीम इस मैच में 146 रन पर आउट हो गई और भारत ने मुकाबला 100 रन से गंवा दिया।

‘सचिन से करें बात’

भारतीय टीम के पूर्व क्रिकेटर अजय जड़ेजा का मानना है कि सिर्फ सचिन तेंदुलकर ही समझ सकते हैं कि कोहली फिलहाल कैसे महसूस कर रहे होंगे। जड़ेजा चाहते हैं कि सचिन विराट कोहली से इस खराब दौर के बारे में बात करें।

‘सचिन ही कर सकते हैं मदद’

जड़ेजा ने कहा, ‘मैंने यह आठ महीने पहले कहा था जब हम इस बारे में बात कर रहे थे। मैंने कहा था कि सिर्फ एक आदमी जो समझ सकता है कि विराट कोहली कि दौर से गुजर रहे हैं वह है सचिन तेंदुलकर। विराट को सिर्फ एक आदमी को कॉल करके कहना चाहिए, ‘चलिए साथ एक ड्रिंक लेते हैं। साथ बढ़िया सा खाना खाते हैं।’ क्योंकि कौन है जिसने 14 या 15 साल की उम्र से शुरू करके कभी बुरा दौर नहीं देखा? सिर्फ आगे बढ़ा है और नई ऊंचाइयां हासिल की हैं जैसे सचिन ने की थीं?’

‘सचिन खुद ही कर लें फोन’

उन्होंने सोनी सिक्स पर बातचीत में कहा, ‘मैं किसी और के बारे में नहीं सोच सकता। क्योंकि मुझे लगता है कि यह सब कुछ उनके दिमाग में है। तो वह सचिन से सिर्फ एक कॉल की दूरी पर हैं। मैं मानता हूं कि अगर विराट फोन नहीं करते… तो असल में सचिन को ही उन्हें फोन कर लेना चाहिए। कई बार, युवा खिलाड़ी इस दौर में होते हैं। जब आप बड़े होते हैं, और चूंकि आप उससे गुजर चुके हैं, तो यह आपकी ड्यूटी है कि आप फोन करें। मुझे उम्मीद है कि मास्टर ऐसा करेंगे।’

भारत और इंग्लैंड के बीच वनडे सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच 17 जुलाई को मैनचेस्टर में खेला जाएगा।