Virat Kohli sympathises with Steve Smith and David Warner
Steve Smith and David Warner

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि बॉल टैंपरिंग मामले में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर के खिलाफ सार्वजनिक तौर पर जैसा बर्ताव हुआ था उसे देखकर वह निराश थे।
मार्च में हुए केपटाउन टेस्ट मैच में गेंद से छेड़छाड़ का दोषी पाए जाने पर स्मिथ और वार्नर फिलहाल एक साल के प्रतिबंध की सजा काट रहे हैं।

कोहली ने फॉक्स क्रिकेट के लिए ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट को दिेए साक्षात्कार में कहा, ‘‘मुझे यह देख कर काफी दुख हुआ था। आप नहीं चाहते कि किसी को भी ऐसी स्थिति का सामना करना पड़े क्योंकि मैं डेविड (वार्नर) और स्टीव (स्मिथ) को जानता हूं।’’

पढ़ें:- सीरीज का पहला टेस्ट जीतकर कप्तान कोहली ने रचा इतिहास

उन्होंने कहा, ‘‘ मैदान में प्रतिस्पर्धा और संघर्ष के बाद आप कभी ऐसी स्थिति नहीं चाहेंगे जैसा दो खिलाड़ियों के साथ हुआ। इस घटना के बाद जो हुआ उससे मुझे निराशा हुई।’’

दक्षिण अफ्रीका से लौटने पर स्मिथ और वार्नर से अपराधियों के जैसा बर्ताव किया गया जो कई पूर्व खिलाड़ियों को नागवार गुजरा। कोहली पर भी इस पूरी घटना का असर पड़ा था। कोहली ने कहा, ‘‘ जिस चीज ने मुझे सबसे ज्यादा परेशान किया वह उनके हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद किया गया बर्ताव और जिस तरह से उन्हें वहां से बाहर ले जाया गया वह था। इन चीजों से मुझे लगा कि उनके साथ बहुत खराब बर्ताव हुआ।’’

पढ़ें:- टेस्ट जीतने के बाद बोले कोहली, ‘हम इस जीत के हकदार हैं’

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘उनको दी गई सजा पर टिप्पणी करने के लिए मैं सही व्यक्ति नहीं हूं लेकिन लोगों के साथ ऐसा बर्ताव देखना मेरे लिए काफी दुखद था। एक क्रिकेटर के तौर पर मैं कभी भी ऐसा नहीं चाहूंगा।