Virat Kohli: Team Combination is absolutely based on players who can provide more than one skill
विराट कोहली (AFP)

पिछले कुछ समय से टीम चयन को लेकर क्रिकेट समीक्षकों के निशाने पर बने हुए भारतीय कप्तान विराट कोहली का कहना है कि टीम कॉम्बिनेशन स्क्वाड में मौजूद खिलाड़ियों के स्किल के आधार पर चुना जाता है। यानि कि एक से ज्यादा स्किल रखने वाले खिलाड़ियों को प्राथमिकता मिलती है। गौरतलब है कि हाल ही में पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कोहली को बल्लेबाजी की तरह कप्तानी में निरंतरता दिखाने की सलाह दी थी।

एंटीगा में वेस्टइंडीज के खिलाफ पहला मैच जीतने के बाद भारतीय कप्तान ने कहा, “कॉम्बिनेशन पूरी तरह से उन खिलाड़ियों पर आधारित है जो एक से ज्यादा स्किल रखते हैं। बात आपके पास जो रिसोर्स हैं उन्हें मैनेज करने और सेटल होने की है। जब भी टीम चुनी जाएगी तो उस पर (विपरीत) विचार हो होंगे ही।”

एंटीगा टेस्ट के चौथे दिन अजिंक्य रहाणे के शानदार शतक और हनुमा विहारी की 93 रन की पारी की मदद से भारत ने 343/7 का स्कोर बनाकर वेस्टइंडीज के सामने 419 रन का लक्ष्य रखा। दूसरी पारी में जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा और मोहम्मद शमी के घातक अटैक के सामने मेजबान 100 रन पर ही ढेर हो गए।

आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप में अहम साबित होंगे बुमराह

मैच में शानदार पांच विकेट हॉल लेने वाले बुमराह के बारे में कप्तान ने कहा, “खिलाड़ियों का वर्कलोड मैनेज करना सबसे अहम है और यही कारण है कि हमने विश्व कप के बाद उसे सीमित ओवर फॉर्मेट से दूर रखा। हमें उसे इस सीरीज के लिए तरोताजा चाहते थे। वो टेस्ट चैंपियनशिप में हमारे लिए अहम खिलाड़ी होगा। हमें पता है कि वो कितना अच्छा खिलाड़ी है। वो तीनों (बुमराह, शमी, इशांत) बतौर गेंदबाजी क्रम अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। हमारा गेंदबाजी कॉम्बिनेशन पूरी तरह सेट है।”

बुमराह के 5 विकेट हॉल से 318 रन से जीता भारत, सीरीज में 1-0 से बढ़त

कोहली का मानना है कि ये एक संघर्षपूर्ण मैच था जहां विंडीज टीम ने भारत को कड़ी टक्कर दी। उन्होंने कहा, “पिछली बार भी जब हम यहां खेले थे तो पहला मैच काफी अच्छा था। इस बार और भी कड़ी मेहनत करनी पड़ी। जिंक्स ने दोनों पारियों में अच्छा खेला। ये ज्यादा संघर्षपूर्ण था। हमें तीन-चार बार मैच में वापसी करनी पड़ी।”