विराट कोहली © AFP (File Photo)
विराट कोहली © AFP (File Photo)

डीडीसीए में घोटाले को लेकर हर रोज नई बातें सामने आ रही हैं। अब ‘आम आदमी पार्टी’ ने इस मामले में अपनी बात को रखते हुए गुरुवार को भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली के एक साक्षात्कार का इस्तेमाल किया। खबरों के मुताबिक विराट कोहली के एक अंग्रेजी अखबार ‘द हिंदू’ को दिए गए एक साक्षात्कार में कहा था कि जब उनका चयन अंडर-14 टीम में होना था तब उनसे समझौता करने के लिए कहा गया था। जब उन्होंने यह बात अपने पिता से बताई तो उन्होंने इसे खारिज कर दिया था। कोहली ने बताया कि उसके अगले साल वह खुद के दम पर टीम में शामिल हो गए। यह बात साल 2001 से 2003 की बीच की है, उस समय डीडीसीए के अध्यक्ष अरुण जेटली थे। ये भी पढ़ें: साल 2015 में वनडे क्रिकेट के 5 सबसे सफल गेंदबाज

साथ ही आप पार्टी ने अरुण जेटली से सवाल किया है कि वह डीडीसीए का कौन अधिकारी था जिसने कोहली से समझौता करने के लिए कहा था। आप नेता आशुतोष ने कहा, “हम उम्मीद करते हैं कोहली के द्वारा यह खुलासा करने के बाद उन्हें निशाना नहीं बनाया जाएगा और ना ही उनका करियर बर्बाद किया जाएगा। साथ ही आशुतोष ने कहा कि क्या अरुण जेटली कोहली के द्वारा कही गई बातों को नकार जाएंगे? क्या वह अब पूरे देश के सामने आकर उनके कार्यकाल के दौरान हुए भ्रष्टाचार को स्वीकार करके पूरे देश से माफी मांगेंगे? ये भी पढ़ें: क्रिकेटर जो इस साल शादी के बंधन में बंधे

इसके उलट हाल ही में विराट कोहली ने वित्तमंत्री अरुण जेटली को अपना समर्थन दिया था और उन पर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया था। आप ने दावा किया है कि राष्ट्रीय टीम के कई खिलाड़ी डीडीसीए में कथित अनियमितताओं के संबंध में पार्टी के संपर्क में थे। आप ने क्रिकेट निकाय को उसके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दाखिल करने की चुनौती भी दी। क्रिकेट संस्था ने कल ऐसा करने की धमकी दी थी। ये भी पढ़ें: साल 2015: टेस्ट क्रिकेट के पांच सफलतम बल्लेबाज