Virat Kohli: We believe, we can win in South Africa
कोच रवि शास्त्री के साथ कप्तान विराट कोहली © AFP

27 दिसंबर को दक्षिण अफ्रीका पहुंचे भारतीय विराट कोहली का कहना है कि मौजूदा टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका में जीत हासिल कर सकती है और इस पर उन्हें पूरा यकीन है। कोहली किस्मत पर नहीं बल्कि मेहनत पर भरोसा करते हैं। उनका मानना है कि इस भारतीय टीम में जीत हासिल करने की काबिलियत है। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि हमारा गेंदबाजी आक्रमण जिस तरह का है और हमें जिस तरह का बल्लेबाजी अनुभव है, हम निश्चित रूप से मानते हैं कि हम यहां जीत सकते हैं। इसमें दोराय नहीं है। अगर हमारे दिमाग में ये चीज नहीं है तो मुझे नहीं लगता कि हमें फ्लाइट पकड़कर यहां आना चाहिए था।”

पिच को लेकर कोई गलतफहमी नहीं है

2013 में हुए भारत के आखिरी दौरे के बाद से वहां की पिच काफी बदल गई है। कोहली ने टीम के शुरुआती अभ्यास सेशन के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए कहा, ‘‘हमें यहां जिस तरह की चुनौती मिलेगी, हम इसके लिये तैयार हैं। हम किसी भी गलतफहमी में नहीं हैं कि हमें क्या मिलेगा। पांच जनवरी आने दीजिए, हम इसके लिये तैयार हैं।’’ गौरतलब है कि भारत ने 1992 से दौरा शुरू करने के बाद दक्षिण अफ्रीका में आज तक कोई टेस्ट सीरीज नहीं जीती है और मौजूदा टीम में ऐसे 13 खिलाड़ी हैं जो यहां 2013-14 के अंतिम दौरे के दौरान खेल चुके हैं।

तेज और उछाल भरी होगी पिच

कोहली ने कहा कि उन्हें पिचों के काफी तेज और उछाल भरे होने की उम्मीद है लेकिन उन्होंने ये भी याद दिलाया कि वे जोहान्सबर्ग में पिछली बार कितनी अच्छी तरह खेले थे। भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘हां, हम यहां दक्षिण अफ्रीका आए हैं और अच्छे से जानते हैं कि हमारी सरजमीं की तुलना में यहां का विकेट अलग तरह का होगा। यहां तक कि हम आखिरी बार जब यहां खेले थे तो काफी बातें हो रही थीं कि हमें छोटी गेंद के खिलाफ जूझना पड़ेगा। लेकिन मुझे लगता है कि हमारे बल्लेबाजों ने अच्छी तरह डटकर सामना किया।’’

पिछले चार सालों में बेहतर हुई है टीम

यो-यो टेस्ट पास करने के लिए जरूरी अंक बढ़ा सकती है बीसीसीआई: रिपोर्ट
यो-यो टेस्ट पास करने के लिए जरूरी अंक बढ़ा सकती है बीसीसीआई: रिपोर्ट

कोहली ने कहा, ‘‘जहां तक खेल समझने की बात है तो हम पिछले चार सालों में काफी आगे बढ़ चुके हैं। निजी तौर पर मैं चार साल पहले की तुलना में अब काफी अच्छी तरह से खेल को समझता हूं। मैंने कई उतार चढ़ाव देखे हैं। हम अभी जहां भी हैं, वहां पूरी तरह से सहज हैं और टीम के तौर पर बेहतर स्थिति में हैं। हम जानते हैं कि बतौर टीम कैसे वापसी की जाए, हम जानते हैं कि कब हमें मौका बनाने की जरूरत है तो इसे कैसे बनाया जाए। पिछले चार सालों में टीम में हालात को बेहतर तरीके से पढ़ने की समझ आ गई है और मैं जिस उत्साह की बात कर रहा था, इस समझ से ही ये उत्साह बना हुआ है। पांच जनवरी को जब मैच शुरू होगा तो हम जानते हैं कि हमें क्या करने की जरूरत है।’’

(पीटीआई के इनपुट के साथ)